रमज़ान स्पेशल: सहरी और इफ़्तार के लिए मशहूर है इस शहर की ये फैनी

पवित्र रमजान का माह जारी हैं. ऐसे में रमजान में रोजे रख रहे रोजेदारों के लिए सहरी और इफ्तारी में पहली पसंद फैनी है. खास बात यह है कि उत्तर प्रदेश में बन रही फैनी को खूब पसंद किया जा रहा है और रमजान के इस पाक मौके पर फैनी को हरियाणा, हिमाचल, पंजाब से लेकर उत्तराखंड और अन्य राज्यों के शहरों तक भी भेजा जा रहा है.

उत्तर प्रदेश बड़े पैमाने पर इन राज्यों में फैनी सप्लाई की जा रही है. इसके लिए बाहर के कारोबारियों ने एडवांस बुकिंग भी कराई है. अमर उजाला की एक खबर के मुताबिक फैनी बनाने के लिए सहारनपुर को गढ़ के तौर पर जाना जाता है. महानगर में फैनी, खजला, सवईया और शीरमाल बनाने की करीब 18 फैक्ट्रियां मौजूद है.

Image Source: Google

इनमें रमजान के दौरान रोजाना की मांग के अनुरूप 14 से 18 क्विंटल तक फैनी तैयार की जा रही है. सहरी और इफ्तारी में रोजेदार फैनी को खूब पसंद करते हैं. शहर में नखासा बाजार, चौकी सराय, मोहल्ला सराय, एकता कॉलोनी और पीरवाली गली में फैनी, खजला, सवईया और शीरमाल बनाने की कई बड़ी फैक्ट्रियां स्थित हैं.

खबरों के अनुसार इन दिनों शहर में फैनी बनाने वाली भट्टियां पुरे दिन चल रही है. इसके अलावा छोटे कारोबारी भी अपने घरों पर भी यह खाद्य सामग्री तैयार करके बेचने में लगे हुए है. कारोबारी कहते हैं कि चार दशकों से सहारनपुर की फैनी सबसे ज्यादा मशहूर है.

Image Source: Google

सहारनपुर की फैनी का स्वाद चखने के लिए पुरे यूपी से ही नहीं बल्कि हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और हिमाचल के लोग तक यहां का रुख करते हैं. उन्होंने बताया कि हर साल रमज़ान के समय इसकी सबसे ज्यादा खरीददारी होती है. इसके अलावा इन राज्यों के व्यापारी एडवांस बुकिंग पर माल तैयार कराकर भी ले जाते हैं.

नखासा बाजार के कारोबारी दिलशाद कहते है कि यहां पर तैयार होने वाली फैनी स्वाद में अच्छी होती है साथ ही जल्द हजम होने वाली और गर्मी में सेहत के लिए भी काफी अच्छी होती हैं. कारोबारी हाजी गुलबहार ने कहा कि फैनी घी, रिफाइंड, मैदा, नमक और रंग डालकर तैयार की जाती है. जिसे दूध के साथ इफ्तारी या सहरी के समय इस्तेमाल किया जाता हैं.