बड़ी खबर: RBI ने इस बैंक पर लगाई पाबंदी, अब ग्राहक 6 महीने में 1000 रुपए से ज्यादा नहीं निकाल सकेंगे

देशभर में कैश की समस्या से जूझ रहे एटीएम की वजह से लोगों का काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। देश भर में चल रही आर्थिक कमी के कारण बेंको के पास भी पैसा नहीं बचा है| इसी के चलते अभी हाल ही में RBI ने एक बड़ा एलान किया है| आपको बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक ने मंगलवार को मुंबई के पंजाब एंड महाराष्ट्र को ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड पर किसी भी प्रकार के व्यापारिक लेन देन पर रोक लगा दी है| जिससे बैंक के निवेशकों और शहर में व्यापारी वर्ग को बड़ा झटका लगा है। शीर्ष बैंक के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल ने कहा कि आरबीआई निर्देशों के मुताबिक, जमाकर्ता बैंक में अपने सेविंग, करंट या अन्य किसी खाते में से 1 हजार रुपये से ज्यादा रुपये नहीं निकाल सकते हैं।

बता दें कि पीएमसी बैंक पर आरबीआई की अग्रिम मंजूरी के बिना ऋण और अग्रिम धनराशि देने या रीन्यू करने, किसी भी प्रकार का निवेश करने, फ्रेश डिपोजिट स्वीकार करने पर रोक लगा दी गई है। आरबीआई के इस फैसले के बाद बैंक में ग्राहकों की भारी भीड़ जमा हो गई है। लोग अपने खातों से पैसे निकलने के लिए बैंक पहुंच रहे हैं।

दरअसल आपको बता दें कि जिस तरह से पिछले कुछ दिनों में बैंक का लगातार एनपीए बढ़ा और बैंक उपभोक्ताओं का लोन वापस करने में विफल साबित हुआ है, उसके बाद आरबीआई ने यह फैसला लिया है। इस खबर के सामने आने के बाद गिरगांव ब्रांच के सामने लोग प्रदर्शन करने लगे।

लोगों ने इस बात की चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि क्या बैंक में उनके पैसे सुरक्षित हैं। बता दें कि इस फैसले के सामने आने के बाद देर रात लोग बैंक पहुंच गए और प्रदर्शन करने लगे। मुंबई में को-ऑपरेटिव बैंक की कुल 10 शाखाएं हैं। जिसमे कुल 91000 ग्राहकों का खाता है।

आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ने यह फैसला पिछले वर्ष दिसंबर माह में ही तमाम बैंकों को सुना दिया था, लेकिन बैंकों ने इसकी जानकारी अपने ग्राहकों को नहीं दी। जिसकी वजह से ग्राहकों में काफी नाराजगी है और वह लोग बैंक के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं।

साथ ही लोगों का कहना है कि बैंक ने जानबूझकर उन्हे अंधेरे में रखा था, अगर बैंक ने उन्हें पहले ही बता दिया होता तो वह अपना पैसा बैंक से निकाल लेते| हालांकि, आरबीआई ने यह भी स्पष्ट किया है कि पाबंदियों से यह नहीं समझा जाना चाहिए कि पीएमसी बैंक का बैंकिंग लाइसेंस रद्द कर दिया गया है।

आरबीआई ने कहा है कि पीएमसी बैंक अगले नोटिस या दिशा-निर्देश तक पाबंदियों के साथ कारोबार कर सकते हैं। रिजर्व बैंक इन दिशा-निर्देशों में स्थिति के हिसाब से संशोधन कर सकता है। यह प्रतिबंध अगले 6 महीने तक लागू रहेंगे।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि आरबीआई ने बैंकिग रेगुलेशन एक्ट, 1949 की अलग-अलग धाराओं के तहत अलग-अलग नियमों के उल्लंघन को लेकर सहकारी बैंक पर पाबंदियां लगाई हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि आरबीआई पीएमसी बैंक की लेनदेन पर कड़ी नजर रखेगा।

साभारः #OneIndiaHindi