कन्नन गोपीनाथ के बाद अब कर्नाटक के एक और IAS ने दिया इस्तीफ़ा, कहा- आज लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ हो रहा है, ये देश के लिए…

देश भर में एक तरफ जम्मू कश्मीर से अनुछेद धारा 370 हटाए जाने की खुशियां मनाई जा रही हैं वहीँ दूसरी ओर कई लोग इससे नाराज़ भी नज़र आ रहे हैं| जम्मू कश्मीर के हालातों को लेकर कोई भी खबर बाहर नहीं आ रही है और वहाँ पर लगे कर्फु की वजह से हर बाहरी नागरिक को अंदर जाने की अनुमति नहीं है| कई विपक्षी नेताओ ने वहाँ जाने कि कोशिश की परन्तु सुरक्षा बल के चलते किसी को भी अंदर जाने की अनुमति नहीं दी गयी| इसी के साथ कई प्रशासनिक अधिकारी जिनको वहाँ के हालातों के बारे में पता चल रहा है तो आवाज उठा रहे हैं लेकिन सरकार मजबूर होकर ऐसे अधिकारियों को अपना इस्तीफा देना पड़ रहा है|

बता दें कि ऐसे ही जम्मू और कश्मीर के मुद्दे पर एक और भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी ने पद से इस्तीफा दे दिया है| इनका नाम एस. शशिकांत सेंथिल है जिन्होने बतौर IAS अपने पद से इस्तीफा दे दिया है| दक्षिण कन्नड़ के डिप्टी कमिश्नर रहे शशिकांत ने कहा है कि मुझे लगता है कि बतौर सिविल सर्वेंट के रूप में काम जारी रखना अनैतिक है जब लोकतंत्र के बुनियादी निर्माण से अभूतपूर्व तरीके से समझौता किया जा रहा है|

अंग्रेजी अखबार The Hindu की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ सेंथिल ने कहा कि आने वाले दिन राष्ट्र के मूल ताने-बाने में बेहद कठिन चुनौतियां पेश करेंगे ऐसे में अपने काम को जारी रखने के लिए आईएएस से इस्तीफा देना ही बेहतर होगा|

बता दें कि IAS एस. शशिकांत सेंथिल जून 2017 में दक्षिण कन्नड़ जिले के डिप्टी कमिश्नर का पदभार संभाला और जिले के सबसे सक्रिय डीसी में से एक के रूप में प्रतिष्ठित हुए| 40 वर्षीय श्री सेंथिल 2009 बैच के तमिलनाडु के रहने वाले हैं. उन्होंने भारतीदासन विश्वविद्यालय, तिरुचिरापल्ली के क्षेत्रीय इंजीनियरिंग कॉलेज से प्रथम श्रेणी में बीई (इलेक्ट्रॉनिक्स) सिलेबस में पास की थी|

जानकारी के लिए आपको बता दें कि सेंथिल ने 2009 और 2012 के बीच बेल्लारी में सहायक आयुक्त के रूप में कार्य किया और दो कार्यकालों के लिए शिवमोग्गा जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के पद पर रहे. वह चित्रदुर्ग और रायचूर जिलों के उपायुक्त भी थे. सेंथिल नवंबर 2016 से खान और भूविज्ञान विभाग में भी निदेशक थे|

इसी के साथ बीते दिनों Cafe Coffee Day के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ के मामले की जांच कर रहे सेंथिल, जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर इस्तीफा देने वाले दूसरे IAS हैं| बता दें कि इससे पहले गोपीनाथ कन्नन ने अपने पद से यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया था कि कश्मीर में लोगों को उनकी बात कहने का हक नहीं दिया जा रहा है|