भाजपा सांसद रूपा गांगुली के बेटे की करतूत देख लोगों ने कहा- दारुबाज़ है, पी रखी थी

बीजेपी सांसद और अभिनेत्री रुपा गांगुली के बेटे पर न’शे में धुत होकर गाड़ी चलाने का मामला सामने आया है। लोगों का कहना है की उसने इतनी ज्यादा पी रखी थी की उसको अपना कुछ होश ही नहीं था| उसने अपनी काले कलर की गाड़ी को क्लब की दीवार में एक ज़ोरदार टक्कर मारी| यह घटना गुरूवार की देर रात की है, वह रात में न’शे की हालत में साउथ कोलकाता क्लब से शरा’ब पी कर, न’शे में वहाँ से लौट रहा था। पूछताछ के दौरान पुलिस को यह भी पता चला है की इस घट’ना के चलते कई लोग भी अपनी जा’न जाने से बाल-बाल बचे हैं।

सूत्रों के मुताबिक कोलकाता के रिहायशी इलाके के गोल्फ गार्डन के पास 20 साल के आकाश मुखोपाध्याय ने गाड़ी घुमाते वक्त अपनी काली रंग की सेडान से क्लब कि दीवार में टक्कर मार दी। पूछताछ के दौरान लोगों ने कहा कि कार की गति इतनी ज्यादा थी की यह घट’ना होना निश्चय थी.

Image Source: Google

इस दौरान कई लोग इस हाद’से की चपे_ट में आने से बचे हैं। लोगों ने बताया की इस घट’ना के दौरान घटनास्थल पर कई सारे लोग मौजूद थे पर इस हाद’से में किसी को भी चो’ट नहीं आई।

वही लोगों का कहना है की कार की गति बहुत तेज़ थी और गति का अंदाज़ा सिर्फ इससे लगाया जा सकता है की कार के टकराने की आवाज़ इतनी जबरदस्त थी की क्लब के पास ही मौजूद अपार्टमेंट से उनके पिता दौड़ के बहार आये और फिर उन्होंने अपने बेटे को कार से बहार निकाला.

अच्छी बात तो यह है की इस घट’ना के दौरान आकाश को भी कोई चोट नहीं आयी यह पूरा मामला पुलिस में दर्ज कराया गया वहां मोजूद लोगों ने आकाश पर यह आरोप लगाया कि आकाश बहुत ही न’शे की हालत में गाड़ी चला रहे थे।

इसके बाद पुलिस आकाश मुखोपाध्याय को लेकर जाधवपुर पुलिस स्टेशन में ले गयी। थाने में पुलिस ने आकाश मुखोपाध्याय से लंबी पूछताछ की। इस मामले में भाजपा सांसद रुपा गांगुली ने ट्वीट कर के कहा कि कानून ने अपना काम किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि मेरे घर के नज़दीक मेरे बेटे के साथ यह कार हाद’सा हुआ है।

वही रुपा गांगुली ने मैंने पुलिस को फोन कर के कहा कि वो इस मामले को देखें कृप्या कर इस मामले को किसी भी तरह के सियासी दबाव में आकर काम ना करें मैं अपने बेटे से प्यार करती हूं लेकिन कानून को अपना काम करना चाहिए।

इस ट्वीट में राज्यसभा सांसद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग करते हुए हिंदी में लिखा कि ना मैं गलत करती हूं ना मैं सहती हूं मैं बिकाऊ नहीं हूं।