सुरक्षा की मांग लेकर कोर्ट पहुंचे साक्षी मिश्रा और अजितेश की कोर्ट परिसर में पिटाई, जज ने MLA राजेश लगाई फटकार

उत्तर प्रदेश: भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा और उनके पति अजितेश को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राहत देते हुए उनकी शादी को वैध करार दिया है. इसके साथ ही उस जोड़े को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए पुलिस को आदेश दिया गया है. उत्तर प्रदेश के बरेली जिले की बिथरी चैनपुर सीट से BJP के विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी और उसके पति अजितेश कुमार के वकील ने बताया, हाईकोर्ट ने पुलिस को उन्हें सुरक्षा देने के निर्देश दिए हैं. लेकिन कोर्ट परिसर अजितेश के साथ मारपीट की गई अभी नहीं पता वे लोग कौन थे. लेकिन इससे यह साबित होता है कि उनकी जान को खतरा है।

आपको बता दें साक्षी मिश्रा और उनके पति अजितेश आज सुबह इलाहाबाद हाई कोर्ट में पेशी के लिए पहुंचे थे, इस दौरान कोर्ट परिसर में मौजूद लोगों ने अजितेश की पिटा’ई कर दी। हालांकि सुरक्षा टीम ने भीड़ से अजितेश को आक्रो’शित भी’ड़ से बचा लिया। जानकारी के अनुसार कोर्ट परिसर में कुछ लोग काले कपड़े में थे, इन लोगों ने अजितेश को थ’प्पड़ और लात घुसे जड़ दिया।

Image Source: Google

वही प्रयागराज के एसएसपी अतुल शर्मा ने इलाहाबाद हाईकोर्ट परिसर में किसी भी तरह की मारपी’ट की घट’ना से साफ इनकार कर दिया है। वहीं आज कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के दौरान साक्षी और अजितेश की शादी को कानूनी करार दिया है। बता दें कि साक्षी और अजितेश कोर्ट में अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर पहुंचे थे।

मिली जानकारी के अनुसार अजितेश कोर्ट के कॉरिडोर में खड़े हुए थे, इसी दौरान अजितेश की कुछ लोगों ने कथित तौर पर पिटा’ई कर दी। हालांकि इस बारे में तुरंत जानकारी नहीं मिल सकी कि किसने उसकी पिटा’ई की। जिस तरह कोर्ट परिसर के अंदर अजितेश के साथ मारपी’ट की गई उसके बाद जज ने पुलिस अधिकारियों को तलब किया और अजितेश को कोर्ट रूम के भीतर ही बैठने के लिए कहा गया। साथ ही कोर्ट ने साक्षी के पिता राजेश को भी कड़ी फटकार लगाई है।

आपको बता दें कि साक्षी मिश्रा और उसके पति अजितेश कुमार को सुरक्षा देने के लिए बरेली पुलिस तलाश कर रही थी। रविवार को बरेली पुलिस ने दिल्ली की गीता कॉलोनी से साक्षी मिश्रा, पति अजितेश और अजितेश के पिता हरीश कुमार और मामा से मुलाकात की। इसके बाद बरेली पुलिस साक्षी अजितेश और उनके रिश्‍तेदारों को अपनी सुरक्षा में लेकर प्रयागराज रवाना हो गई थी।

Leave a comment