CAA-NRC के खिलाफ जमात-ए-इस्लामी के कार्यक्रम में पहुचे संजय राउत कहा- कोई भी मुस्लि’म भाई डरे न, अमित शाह को…?

मुंबई: नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के खिलाफ देश भर लगातार विरोध प्रदर्शन जारी हैं. इस के खिलाफ मैदान में उतरी जमात-ए-इस्लामी को शिवसेना का साथ मिल गया है। आज मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत भी शामिल हुए। बता दें कि इस कार्यक्रम का आयोजन (JIH) मुंबई, मराठी पत्रकार संघ और एसोसिएशन ऑफ प्रोटेक्शन ऑफ सिविल राइट्स मिलकर कर रहे हैं।

शनिवार को जमात-ए-इस्लामी हिंद मुंबई ने एक कार्यक्रम आयोजन किया. जिसमे शिवसेना की ओर से पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय राउत शामिल हुए इस दौरान शिवसेना नेता संजय राउत ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जिस कानून को लेकर मुस्लि’म सड़को पर उतरे है, उससे हिंदुओं पर भी खतरा मंडरा रहा है।

कार्यक्रम के दौरान राउत ने कहा, ‘बाल साहेब ठाकरे देशभक्त थे. उन्होंने कभी नहीं कहा कि मुस्लि’मों को यहाँ से चले जाना चाहिए. संजय राउत ने कहा कि सरकार को संविधान पढ़ना चाहिए. क्या जिनके पास दस्तावेज नहीं हैं वो देशभक्त नहीं हैं? राउत ने कहा इस कानून से भारत दुनिया के देशो से अलग-थलग पड़ गया है. ट्रंप भी हमारा साथ नहीं दे रहे हैं।

मैं कहता हूं कि ऐसे वक्त में किसी को भी डरने की जरुरत नहीं, जो डर गया समझो वो म’र गया. मै कहता हूं कि इस घड़ी में इस देश के सच्चे नागरिको से जो डराने वाले आते और चले भी जाते हैं। संजय राउत ने कहा- बालासाहेब ठाकरे के नाम के आगे हिंदू ह्रदय सम्राट जरूर लिखा जाता था लेकिन वो हमेशा कहते थे कि चाहे हिंदू हो या मुसलमा’न ये देश सभी का है।

 

आपको बता दें की पहली बार शिवसेना के किसी नेता ने CAA विरोधी कार्यक्रम में शिरकत की, हलाकि शिवसेना ने लोकसभा में CAA का समर्थन किया था लेकिन राज्यसभा में कांग्रेस के दबाव के चलते वोटिंग के दौरान शिवसेना वॉकआउट कर गयी थी।