VIDEO: पुलवामा ह'मले के बाद सऊदी अरब ने की पाकिस्तान के खिलाफ की बड़ी कार्यवाही

VIDEO: पुलवामा ह’मले के बाद सऊदी अरब ने की पाकिस्तान के खिलाफ की बड़ी कार्यवाही

नई दिल्ली: कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों पर आ$तंकवादी गिरोह जैश-ए-मुहम्मद के हमले का असर पाकिस्तान पर पड़ने लगा है। भारत के नजदीकी दोस्त सऊदी अरब ने पाकिस्तान को तगड़ा झटका दिया है। पाकिस्तान के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान पाकिस्तान की इस हरकत से इतने नाखुश हुए कि उन्होंने अपना प्रस्तावित पाकिस्तान दौरा ही टाल दिया है। हालांकि पाकिस्तानी मीडिया कह रहा है कि दौरा सिर्फ एक दिन के लिए टला है।

आपको बता दें सऊदी अरब के राजकुमार मोहम्मद बिन सलमान द्विपक्षीय यात्रा के लिए पाकिस्तान का दौरा करने वाले थे उन्होंने रविवार तक अपनी यात्रा स्थगित कर दी है। इससे सवाल उठते हैं कि क्या यह फैसला कश्मीर में पुलवामा आतंकी हमले और भारत और पाकिस्तान के बीच राजनयिक गतिरोध से जुड़ा है?

इससे पहले सऊदी अरब ने शुक्रवार को कहा कि वह आतंकवाद और चरमपंथ के खिलाफ भारत की लड़ाई में उसके साथ खड़ा है तथा उसने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तान के आ$तंकवादी संगठन जैश-ए- मोहम्मद के आत्मघाती हमले को कायराना कृत्य करार दिया।

सऊदी अरब की यह कड़ी भर्त्सना ऐसे समय आई है जब सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुलअजीज अल साद शीर्ष भारतीय नेतृत्व के साथ अगले हफ्ते बातचीत करने के लिए भारत की राजकीय यात्रा पर आने वाले हैं। पुलवामा में जैश ए मोहम्मद के आ$त्म’घाती बम हमलावर के हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए।

इस आ$तंकवादी हमले की कड़ी निंदा करते हुए सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने कहा कि अर्धसैनिक काफिले को निशाना बनाकर किए गए इस विस्फोट की वह निंदा करता है। सरकारी संवाद समिति सऊदी प्रेस एजेंसी ने विदेश मंत्रालय के सूत्र के हवाले से कहा कि सऊदी अरब इन कायरना आ$तंकवादी कृत्यों को खारिज करता है और वह आ$तंकवाद एवं चरमपंथ के खिलाफ लड़ाई में मित्र भारत गणतंत्र के साथ खड़ा है।

सऊदी प्रेस एजेंसी के अनुसार सऊदी अरब ने इस हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों घायल हुए जवानों भारत सरकार एवं भारत की जनता के प्रति संवेदना प्रकट की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। पाकिस्तानी नेतृत्व के साथ बातचीत के लिए शनिवार को इस्लामाबाद पहुंच रहे शहजादे मंगलवार को भारत की दो दिवसीय यात्रा पर नई दिल्ली पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें भारत आने का न्यौता दिया था।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बृहस्पतिवार को नई दिल्ली में कहा था, जिन विषयों पर चर्चा होगी वे निवेश रक्षा सुरक्षा आ$तंकवाद के विरूद्ध अभियान और नवीकरणीय ऊर्जा हैं।

 

Leave a comment