सऊदी में आजमगढ़ के दो सगे भाइयों समेत तीन की ह#या, पूरे शहर में ग़मगीन माहोल

आजमगढ़: सऊदी अरब के के रियाद आजमगढ़ के 3 व्यक्ती नौकरी कर रहे थे| अचानक कल खबर आयी की उन तीनों की डेड बोदी उनके कफील के यहाँ पायी गयी है| आपको बता दें कि सऊदी अरब में सेठ को कफील कहा जाता है|

इमेज: गूगल

मरने वालों में दो सगे भाइ हैं और एक अन्य है, जो उसी कफील के यहाँ काम करता था| इन तीनों लोगों की डेड बोदी रविवार को सऊदी अरब की पुलिस ने बरामद कर ली है| यह सूचना जैसे ही आजमगढ़ उनके परिवार वालों को पहुँची तो यहाँ मातम छा गया|

परिजनों ने सऊदी अरब के उस व्‍यापारी पर इनके मरने का इलज़ाम लगाया है| जिन लोंगो की डेड बोदी मिली है वो रौनापार के जमीन रसूलपुर गांव के निवासी जो की इस प्रकार हैं| सफ़कत (35), शमीम 32 पुत्रगण झिनकू व जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के बासुपर निवासी फैयाज 40 पुत्र मसूद अहमद शामिल है|

बताया जा रहा है कि सफकत दस-12 दिन पहले उस अरब व्‍यापारी के यहां अपने काम का हिसाब करने गया था| वह जब दो दिन तक वापस नही आया तो मोबाइल पर लोंगो ने उसको फोन किया, लेकिन उसका मोबाइल बंद आ रहा था|

इसके बाद सफकत का छोटा भाई शमीम अहमद अपने एक मित्र फैयाज को लेकर उस अरब व्‍यापरी के यहां ये पता लगाने गया कि वो लोग कहाँ हैं| लेकिन वह दोनों भी वापस नही लौटे| और इन दोनों का भी मोबाइल स्विच ऑफ हो गया|

अब मामला गंभीर हो गया था| सोच विचार के बाद सफ़कत के एक और भाई जिसका नाम सल्लू है उसने पुलिस को सूचना देना ठीक समझा| इसके बाद सऊदी अरब की पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की और जाँच में कई लोगों से बात करने के बाद हकीकत पाता चली|

फिलाहल इस मामले का अभी खुलासा नहीं हो पाया है कि इनको मारने की क्या वजह रही| इसमें दर्जन भर लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है| जिसके बाद ही पुलिस को उन तीनों की डेड बोदी बरामद हो सकी|