VIDEO: पाकिस्तान के मशहूर बशीर चाचा, धोनी की वजह से फ्री में भारत-पाक का मैच देखते हैं 8 साल से है माही के दीवाने, देखिए

नई दिल्ली: पाकिस्तान के मशहूर चाचा शिकागो मोहम्मद बशीर 16 जून को होने वाले भारत-पाकिस्तान मैच को देखने के लिए 6000 किलोमीटर का सफर कर के मैनचेस्टर पहुंच चुके हैं। बशीर चाचा को लोग ‘चाचा शिकागो’ के नाम से भी जानते हैं। वे 2011 वर्ल्ड कप से भारत-पाकिस्तान का मुकाबला देखने जरूर जाते हैं। वे टीम इंडिया के विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के बहुत बड़े फैन हैं। दोनों एक-दूसरे को 2011 से जानते हैं। तब धोनी टीम इंडिया के कप्तान थे। उन्होंने मोहाली में वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल मैच के लिए बशीर को टिकट दिलाया था।

63 साल के मोहम्मद बशीर भारत-पाक मैच देखने धोनी के टिकट पर ही जाते हैं। वे स्टेडियम में अपने देश पाकिस्तान के साथ साथ धोनी का समर्थन भी करते नज़र आते हैं। एक इंटरव्यू बशीर चाचा ने कहा, मैं कल यहां (मैनचेस्टर) आया और देखा कि लोग एक टिकट के लिए 70 से 80 हजार रुपए देने के लिए तैयार हैं। यहां से शिकागो (अमेरिका) वापस जाने में इतने का ही टिकट मिलेगा। मैं धोनी जी को धन्यवाद कहना चाहता हूं कि मुझे टिकट के लिए संघर्ष नहीं करना पड़ रहा।

आपको बता दें महेंद्र सिंह धोनी और कराची में जन्में मोहम्मद बशीर के बीच रिश्ता 2011 वर्ल्‍ड कप में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए सेमीफाइनल से शुरू हुआ था. इसके बाद से दोनों एक दूसरे का काफी सम्‍मान करते हैं. वह जानते हैं कि धोनी सुनिश्चित करेगा कि वह ओल्ड ट्रैफर्ड पर मैच देख सकें।

धोनी कई बार अपने साथी खिलाड़ियों के लिए भी आसानी से उपलब्ध नहीं हो पाते हैं, लेकिन उन्होंने बशीर चाचा को कभी भी निराश नहीं किया। बशीर चाचा ने कहा, मैं उन्हें कभी फोन नहीं करता। वे बहुत व्यस्त रहते हैं। मैं केवल मैसेज के जरिए उनसे संपर्क करता हूं। यहां आने से पहले धोनी ने मुझे टिकट का आश्वासन दिया। वे एक महान इंसान हैं। उन्होंने 2011 वर्ल्ड कप के बाद से जो मेरे लिए किया है, उसके बाद मैं किसी और के बारे में नहीं सोचता।

भारत-पाक के मैच देखने के दौरान बशीर चाचा के कई भारतीय दोस्त बन गए। इनमें सचिन तेंदुलकर के सबसे बड़े फैन सुधीर भी शामिल हैं। सुधीर क्रिकेटर्स के पैसे पर टीम इंडिया का समर्थन करने स्टेडियम जाते हैं। मैनचेस्टर में सुधीर और बशीर चाचा एक साथ रह रहे हैं।

बशीर चाचा ने कहा, सुधीर अभी ट्राइ-कलर पेंट करवाने गया है। मैं कमरा बुक करता हूं और हम एक साथ रहते हैं। अल्ला को सुक्रिया अदा करता हु। मैं ठीक आर्थिक रूप से उसकी मदद करता हूं। मैंने सुधीर को एक फोन गिफ्ट किया। इससे वह काफी खुश हुआ। छोटी-छोटी चीजें जीवन में आपको खुशी देती हैं।