हजारों करोड़ की मालकिन डॉ. नोव्हेरा शैख़ के हीरा ग्रुप की संपत्ति ज़ब्त, धोखाधड़ी का आरोप

हैदराबाद : प्रवर्तन निदेशालय ED मौजूदा समय में देशभर में धनशोधन मामलों में कढ़ाई से कदम उठा रही है। लगातार हो रही कार्रवाई से घोटाले करने वालो के पसीने छूटे हुए हैं। ताजा मामला तेलंगाना के हीरा ग्रुप का मामला सामने आया है। ED ने तेलंगाना के मशहूर हीरा ग्रुप ऑफ कंपनीज द्वारा किए गये ठगी के मामलों में कंपनी और इसकी संचालिका डॉ नोहेरा शेख के नाम पर देश के अलग अलग शहरों में पंजीकृत 279.29 करोड़ की अचल संपत्ति के अलावा बैंक में जमा 22.69 करोड़ रुपए की नगदी समेत कुल 299.99 रुपए की संपत्ति कुर्क की है।

ED द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया कि निदेशालय ने हीरा ग्रुप ऑफ कंपनी तथा इसकी संचालिका नोहेरा शेख के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिं’ग एक्ट 2002 के तहत कई मामले दर्ज किए थे। जिसके बाद इन मामलों की जांच पड़ताल के दौरान पता चला कि हीरा ग्रुप ऑफ कंपनी ने भारी मुनाफा देने का आश्वासन देकर लगभग 1,72,000 निवेशकों लगभग 5,600 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश हासिल किया।

Image Source: Google

हीरा ग्रुप ऑफ कंपनी ने निवेशको की रकम से मुनाफा देने के बजाय देश के देश के अलग अलग शहरों में बड़े पैमाने पर अचल संपत्ति खरीदी। इस मामले की जांच के बाद कंपनी के 182 बैंक खातों का पता चला। निदेशालय ने हीरा ग्रुप ऑफ कंपनीज के नाम पर तेलंगाना केरल महाराष्ट्र दिल्ली और आंध्र प्रदेश में पंजीकृत 277.29 अचल संपत्तियां तथा बैंक में जमा 22.69 रुपये अटैच करने के आदेश जारी किए।

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, पोंजी स्कीम घोटाले के तहत ईडी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए देश भर के कई हिस्सों से 300 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क कर दी है। जो ये तेलंगाना के हीरा समूह से जुड़ा हुआ है।