कश्मीर के हालातों पर दावा करके फंसी शेहला रशीद, केंद्र सरकार और भारतीय सेना पर लगाए थे आरोप

नई दिल्ली: जेएनयू की पूर्व छात्रा और कश्मीरी नेता शेहला रशीद ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के बाद राज्य के हालातों को लेकर ट्वीट किए. शेहला ने ट्विटर के माध्यम से दावा किया कि भारतीय सेना द्वारा घाटी के लोगों पर अ’त्याचार किए जा रहे हैं. शेहला ने एक के बाद एक करते हुए लगातार कई ट्वीट किए, जिसके बाद भारतीय सेना शेहला रशीद के सभी दावों को खारिज करते हुए इसे फेक न्यूज करार दिया. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार भारतीय सेना सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है।

अब इस मामले को लेकर जेएनयू की छात्रनेता शेहला राशिद के खिलाफ़ अपराधिक मामला दर्ज हो गया है जिसमे उन पर आरोप है की उन्होंने भारतीय सेना और भारत सरकार के खिलाफ फ़र्ज़ी खबर फैलाई है। अमर उजाला में छपी खबर के अनुसार यह शिकायत सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने दर्ज करवाई है और गिरफ्तारी की मांग की है। वहीँ साथ ही साथ शेहला रशीद के ट्वीट पर भारतीय सेना ने उनको जवाब दिया है।

Image Source: Google

बता दें शेहला रशीद ने रविवार को 10 ट्वीट किये जिसमें उन्होंने कश्मीर के हालात को बताते हुए कहा कि कश्मीर के हालात बहुत खराब हैं। और इसका शेहला ने दावा भी किया है। इस पर भारतीय सेना ने जवाब में ट्वीट करते हुए इन दावों को गलत और बेबुनियाद बताया है।

वही भारतीय सेना ने ट्वीट करते हुए यह कहा कि शेहला राशिद द्वारा लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद और गलत हैं। ऐसी असत्यापित और फर्जी खबरें असामाजिक तत्वों और संगठनों द्वारा अनसुनी आबा’दी को भड़का’ने के लिए फैलाई जाती हैं।