अनुच्छेद 370: क्या भाजपा जम्मू कश्मीर के दलित और हिंदुओं के अधिकारों के लिए फिक्रमंद है मुसलमा’न…

कश्मीर में चल रही आर्टिकल 370 और 35A को लेकर बड़े और वरिष्ठ नेताओं के बयान आ रहे हैं| ऐसे में बीजेपी की केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अनुच्छेद 370 को हटाने के कारणों पर आक्राम’क शैली में प्रकाश डालते हुए अपना बयान दिया है| इसी के साथ उन्होंने सीधे लोगों के संवाद करते हुए कांग्रेस पर भी हम’ला बोला है। उन्होंने अपना बयान देते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 किसी जेल से कम नहीं था। कश्मीर में हि’न्दू और दलि’त बंधु मजदूर थे। वहाँ से अनुछेद 370 को हटाने से सब को आज़ादी मिल गयी है|

आपको बता दें कि स्मृति ईरानी रविवार को सहारनपुर में राष्ट्रीय एकता कार्यक्रम के तहत जनजागरण और प्रबुद्ध गोष्ठी को संबोधित कर रही थीं। इसी दौरान उन्होंने हौजरी उद्योग के लिए लोगों को सहयोग का भी भरोसा दिया। कार्यक्रम के बाद स्मृति ईरानी शहीद भगत सिंह के भतीजे और योग गुरु भारतभू’षण से भी मिलीं और इसी के साथ शहर के पांच मोहल्लों में जाकर 370 पर लोगों को जागरूक भी किया है।

बीजेपी कि केंद्रीय कपड़ा महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने जनमंच में आयोजित कार्यक्रम में 23 मिनट तक धारा प्रवाह बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार बनते ही पहले संसद के सत्र में कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर देश की एकता और अखंडता को मजबूत किया है। अब हमारा देश खंडि’त नहीं होगा।

इसके बाद उन्होंने अपना भाष’ण देते हुए बताया कि पहले जम्मू कश्मीर में दो झंडे फहराए जाते थे, लेकिन अब हमारी नस्लें केवल वहां पर तिरंगा ही फहराते देखेंगी। अब देश में एक विधा’न और एक प्रधान ही रहेगा।

इसी के साथ उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि 25 जनवरी 1990 को 40 एयरफोर्स के जवान कश्मीर में ड्यूटी पर जाने के लिए वाहन का इंतजार कर रहे थे तभी जम्मू कश्मीर लिबरेश’न फ्रं’ट के उग्र’वादि’यों ने हम’ला कर दिया था जिसमें दो जवान भी शही’द हो गए थे।