ओमान के सुल्तान के निधन पर भारत में राजकीय शोक, आधा झुका तिरंगा

नई दिल्लीः 79 वर्षीय ओमान के सुल्तान कबूस बिन सईद अल सईद के 10 जनवरी को निधन हो गया है। सुल्तान कबूस बिन सईद अल सईद के निधन पर भारत सोमवार को एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। इसकी जानकारी गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने दी है। आपको बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ओमान के सुल्तान काबूस बिन सैद अल के निधन पर शोक जताते हुए उन्हें क्षेत्रीय शांति का प्रतीक बताया।

बता दें ओमान के सुल्तान के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट कर कहा कि महामहिम सुल्तान काबूस बिन सैद अल सैद के निधन के बारे में जानकर बहुत गहरा दुख हुआ है। वह एक दूरदर्शी नेता थे, जिन्होंने ओमान को एक आधुनिक और समृद्ध राष्ट्र में बदल दिया। पीएम मोदी ने कहा कि सुल्तान काबूस भारत के सच्चे दोस्त थे और उन्होंने भारत तथा ओमान के बीच साझेदारी को मजबूत बनाने में सशक्त भूमिका निभाई है।

आपको बता दें 79 वर्षीय सुल्तान काबूस वर्ष 1970 से लगातार ओमान के सुल्तान बने हुए थे. वही सुल्तान के कार्यालय ने कहा कि उनका लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. उनके निधन पर पर रॉयल कोर्ट के दीवान ने शोक संदेश जारी किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सुल्तान के निधन पर शोक व्यक्त किया।

वही गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया की भारत सरकरा ने दिवंगत शख्सियत के सम्मान में 13 जनवरी को देशभर में राजकीय शोक की घोषणा की है। उन्होंने कहा, शोक के दिन भारत भर में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और उस दिन आधिकारिक मनोरंजन का कोई कार्यक्रम नहीं होगा।

देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में इस संबंध में मंत्रालय से आदेश जारी कर दिया है। शनिवार को उनके निधन पर प्रधानमंत्री ने शोक व्यक्त किया था। काबूस अरब जगत में सबसे लंबे समय तक सुल्तान रहे। वो कुछ दिनों से बीमार थे। पिछले महीने हीं वह बेल्जियम से इलाज कराकर लौटे थे।

आपको बता दें सुल्तान काबूस अपने पिता को हटाकर ओमान के सुल्तान बने थे। उनके सुल्तान बनने के बाद देश ने विकास की रफ्तार पकड़ी। सुल्तान काबूस के निधन के बाद उनके चचेरे भाई हैयथम बिन तारिक अल सईद ने उनकी जगह मिली है। उन्होंने शनिवार को शाही परिवार परिषद से मुलाकात की और उसके बाद पद की शपथ ली।