बड़ी खबर: सऊदी अरब में 37 लोगों के सि’र क’लम, इस मामले में दी गई स’ज़ा

सऊदी अरब में दुनिया के सबसे खतरनाक कानून लागु है. सऊदी में किसी भी छोटे से छोटे गुनाह के लिए भी काफी कड़ी सजा दी है. ज्यादातर देशों में मौ’त की सजा या तो दी ही नहीं जाती है या फिर बहुत ही कम मामलों में ही दी जाती है. लेकिन सऊदी अरब उन चुनिंदा देशों में शामिल है जहां मौ’त की सजा आम है और यहां पर कड़े कानून लागू है.

दुनिया भर में अक्सर ही सऊदी के कड़े कानूनों को लेकर चर्चा छिड़ी रहती है. वहीं इसी बीच सऊदी अरब ने आतं’कवाद फ़ैलाने के आरोप में 37 लोगों का सिर कलम कर उन्हें मौ’त के घाट उतार दिया. आपको बता दें कि यह सभी सऊदी अरब के ही नागरिक थे.

इसे लेकर सऊदी अरब के आंतरिक मंत्रालय के मुताबिक यह सजा रियाद, मक्का और मदीना, कासिम प्रांत और पूर्वी प्रांत में दी गई है. इस मामले में आधिकारिक सऊदी प्रेस एजेंसी ने एक बयान जारी करके जानकारी दी है.

आपको बता दें कि इससे कुछ ही दिन पहले पंजाब के दो लोगों को भी सिर कलम करके मौ’त की सजा दी गई थी. इन दोनों की पहचान होशियारपुर के सतविंदर कुमार और लुधियाना के हरजीत सिंह के तौर पर हुई थी. 28 फरवरी को इन दोनों का सिर कलम कर दिया गया था.

आपको बता दें कि सऊदी अरब में प्रदर्शन करना या फिर राजनीतिक पार्टियों का गठन करना पूरी तरह से प्रतिबंधित है. हालांकि मोहम्मद बिन सलमान के प्रिंस बनने के बाद इसे लेकर कुछ छुट जरुर दी गई है. उन्होंने कुछ सामाजिक बदलाव किए थे.

लेकिन इसके बावजूद भी पिछले कुछ सालों में कई प्रदर्शनकारी, लेखक और सामाजिक कार्यकर्ताओं को सजा दी जा चुकी है और कई कार्यकर्ता जेल में कैद है. वहीं यहां पर शिट्टे कार्यकर्ताओं को भी मौ’त की सजा दी गई थी. उन पर राजनीतिक आरोप लगाए गए थे.