VIDEO: EVM पर सवाल उठाकर फूट-फूट कर रोया उम्मीदवार कहा- परिवार में 9 लोग लेकिन मुझे वोट मिले…

17वीं लोकसभा चुनाव के गठन के लिए हुए मतदान में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की हैं. बीजेपी अपने खुद के दम पर ना सिर्फ पूर्ण बहुमत हासिल कर चुकी है बल्कि 300 के आकडे के करीब पहुंचती हुई भी नजर आ रही है. वहीं बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए ने करीबन 350 के आसपास लोकसभा सीटों पर बढ़त बना रखी हैं.

देश भर में बीजेपी के चर्चे है लेकिन पंजाब के जालंधर के एक काउंटिंग सेंटर में सिर्फ बीजेपी की जीत की चर्चा ही नहीं बल्कि एक शख्स की हार भी चर्चा का विषय रही. गुरुवार को मतगणना के दौरान शटर बनाने का बिजनस करने वाले नीतू शटरांवाला आंसुओं के साथ काउंटिंग सेंटर से बाहर निकले.

Image Source: Google

इसकी वजह सिर्फ चुनावी हार ही नहीं थी बल्कि उन्होंने जो सोचा भी नहीं था वह उसके साथ होना रहा. नीतू ने बताया कि मेरे खुद के परिवार में 9 लोग हैं लेकिन मुझे सिर्फ 5 वोट मिले और ये मेरे लिए हैरान कर देने वाला रहा है.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेरी पूरी गली ने मुझे वोट करने का वादा किया था लेकिन इसके बाद भी मुझे सिर्फ 5 वोट हासिल हुए हैं. मैं एक महीने से अपनी दुकान से दूर रहकर, लोगों के बीच काम कर रहा था लेकिन इसके बाद भी उन्होंने मेरे लिए वोट नहीं किया.

हार से निराश नीतू ने आगे से कोई चुनाव नहीं लड़ने की कसम भी खाई. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि इन चुनाव में मैंने बहुत मेहनत की है लेकिन फिर भी मुझे सिर्फ 5 वोट ही मिले हैं. प्रत्याशी ने बताया कि उन्हें सिर्फ 5 ही वोट मिले हैं जबकि उनके ही परिवार में 9 सदस्य हैं.

नीतू ने ईवीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि जरूर इन चुनावों में धांधली हुई है. वर्ना मेरे परिवार ने तो मुझे ही वोट किये हैं वो कहां गए. इतना कहते ही नीतू काउंटिंग सेंटर में ही रो पड़े और उनकी यह बातें लोगों ने रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर पोस्ट की जो काफी वायरल हो रही हैं.

यह वीडियो काफी वायरल हो रहा है जब की नीतू ने हार मतगणना के पहले राउंड पर ही मन ली थी. हालांकि दिन खत्म होने तक उन्हें 856 वोट मिल चुके थे. इससे पहले नीतू एक मोबाइल फोन को फर्जी बम के साथ जोड़ने के चलते चर्चा में आए थे जिस पर उन्हें पुलिस ने पकड़ लिया था. उस समय मीडिया में उन्हें अच्छी अटेंशन मिली थी जिसके चलते उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया.