देश की आर्थिक मंदी को देखते हुए रिजर्व बैंक ने विमल जालान समिति की सिफारिशों को अमल में लिया जिसके चलते सोमबार को रिकार्ड 1.76 लाख करोड़ रुपये का लाभांश और कैश रिजर्व मोदी सरकार को ट्रांसफर करने का फैसला किया...