VIDEO: UN तक पहुंचा झारखंड का तबरेज़ अंसारी मॉब लिंचिं’ग का मामला, मचा हड़कं’प

आए दिन देशभर के अलग अलग राज्यों से मॉब लिंचिं’ग की घट’नाये सामने आ रही है जिसको लेकर हर किसी को चिंता में डाल दिया है. झारखंड में 24 साल के तबरेज अंसारी को भी’ड़ ने जय श्री राम का नारा नहीं लगाने की वजह से पी’ट-पी’ट कर मा’र डाला 22 जून को तबरेज अंसारी की मौ’त हो गई थी. अब ये मामला संयुक्त राष्ट्र तक पहुंच गया है. जहां एक एनजीओ ने इस मुद्दे को उठाया. इस मुद्दे पर AIMIM प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार को घेरा है. ओवैसी ने लिखा कि संघियों ने ऐसे कारनामे किए हैं, जिनकी चर्चा आज संयुक्त राष्ट्र में भी हो रही है।

इस मुद्दे पर AIMIM अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। ओवैसी ने लिखा है कि संघियों ने ऐसे कारनामे किए हैं, जिनकी चर्चा आज यूनाइटेड नेशंस में भी हो रही है। न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के मुताबिक, हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्विट करते हुए लिखा है कि शाबाश संघी मॉब लिंच’र्स आपने अपने अमानवीय कारणों के चलते भारत के सम्मान को ठेस पहुंचाई है, जिसका उल्लेख संयुक्त राष्ट्र में भी किया जा रहा है।

ओवैसी ने मोदी सरकार पर निशाना साधता हुए कहा कि मोदी सरकार देश की इकॉनोमी को 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाना चाहती है, वो भी तब जब नफरत को संवैधानिक रूप दिया जा रहा है। आपको बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी ने जो वीडियो साझा किया है उसमें संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के मंच पर झारखंड मॉब लिंचिं’ग का जिक्र किया जा रहा है।

इस वीडियो में NGO के द्वारा कहा गया है कि तबरेज अंसारी को झारखंड में हिंदू भी’ड़ ने जय श्री राम के नारे ना लगाने की वजह से मा’र दिया गया, इसके अलावा एक मुस्लि’म टीचर को भी पीटा गया। NGO ने अपने बयान में कहा कि सत्ताधारी दल के प्रताप सांर’गी ने संसद भवन में कहा कि जो लोग हिंदू नारे नहीं लगा सकते हैं, उन्हें देश में रहने का हक़ नहीं है।

गौरतलब है कि इससे पहले देश में भी इन मुद्दों को लेकर विवाद हो चुका है। संसद में भी विपक्ष ने इस मसले पर सरकार पर निशाना साधा था. इतना ही नहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने बयान में इसका जिक्र किया था। लेकिन पीएम मोदी ने कहा था एक घट’ना से जोड़कर पुरे राज्य को बदनाम न कर और कि इन तरह की चीजों को देश में स्वीकार नहीं किया जाएगा।

असदुद्दीन ओवैसी ने आगे लिखा कि स्कॉटलैंड के न्यायाधीश ने बिल्कुल ठीक कहा है ये संविधान की लिंचिं’ग है। ओवैसी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा है कि मोदी सरकार देश की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाना चाहती है, वो भी तब जब नफरत को संवैधानिक रूप दिया जा रहा है।