NRC को लेकर अमित शाह ने दिया ऐसा बयान की भड़’क उठे मुसलमा’न, बोले शर्म आनी चाहिए

NRC को लेकर देश भर में चल रहे विवा’दों को लेकर आये दिन नेताओं के बयान आते रहते हैं| कई नेता हक़ की बात करते हैं तो वहीँ कई अपने अजीबो गरीब बयानों को लेकर जाती बाद के नाम पर लोगों को तोड़’ने की कोशिश करते हैं राजनीति खेलते हैं| अभी हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह का ऐसा ही एक बयान सामने आया है जिसके चलते पूरे देश में विवा’द की लहर चल पड़ी है| गृह मंत्री अमित शाह के इस बयान को लेकर कई मुस्लि’म नेता उनकी आलोच’ना कर रहे हैं जिसमे कई हिन्दू नेता भी शामिल हैं|

आपको बता दें कि केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण एनआरसी पर सरकार के संकल्प को दोहराते हुए मंगलवार को अपना बयान दिया है| गृह मंत्री ने अपना बयान देते हुए कहा कि देश से किसी शरणा’र्थी को जाने नहीं देंगे और घुस’पैठि’यो को रहने नहीं देंगे।

साथ ही गृह मंत्री ने एनआरसी पर भाजपा की एक सं’गोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि एनआरसी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बहुत जरूरी है और इसे लागू किया जाएगा लेकिन साथ ही उन्होंने स्प’ष्ट किया कि इससे पहले सभी हिंदू, सिख, जैन और बौ’द्ध श’रणार्थि’यों को भारतीय नागरिकता देने के लिए नागरिकता संशोधन विधेयक पारित किया जाएगा।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस एनआरसी के बारे में लोगों को गुमरा’ह कर रही हैं। बता दें कि गृह मंत्री और बीजेपी ने NRC का मु’द्दा अपने इलेक्शन से पहले ही उठा दिया था लेकिन इस तरह से यह भे’द भाव होगा किसी ने नहीं सोचा था|

गृह मंत्री के इस बयान को लेकर AIMIM अध्यक्ष बैरिस्टर असदुद्दीन ओवैसी ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि गृह मंत्री साफतौर पर कह रहे हैं कि सिर्फ गै’र दस्तावेजी मुस्लि’मों को एनआरसी से डरने की जरुरत है जबकि अन्य लोगों को भारतीय नागरिकता मिलेगी।

साथ ही ओवैसी ने कहा कि अमित शाह मैं जानता हूं कि आपको इससे इलर्जी है मगर सिर्फ एक बार संविधान को पढ़ने की कोशिश करिए। धर्म आधारित नागरिकता गैर कानूनी है। वहीँ दूसरी ओर ओवैसी के साथ कांग्रेस नेता सलमान निजामी ने भी भाजपा अध्यक्ष के बयान पर निशाना साधा है|

कांग्रेस नेता सलमान निजामी ने अपना बयान देते हुए कहा कि दुनिया में पचास से ज्यादा मुस्लि’म बहुल देश हैं। भारतीय और विशेष रूप से हिंदू वहां रहते और कमाते हैं। वहां किसी भी हिंदू को देश छोड़ने के लिए मजबूर नहीं किया जा रहा है। मुस्लि’मों के खिला’फ सां’प्रदायि’क बयान देकर आप महान भारत को बदमान कर रहे हैं, आपको शर्म आनी चाहिए।

जानकारी के लिए बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह ने अपने बयान में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अपना निशाना बनाते हुए कहा था कि एनआरसी के मु’द्दे पर बंगाल के लोगों को गुमराह किया जा रहा है। मैं भाजपा के रूख पर सभी संशयों को स्पष्ट करने के लिए आज यहां हूं, ममता दी कह रही हैं कि लाखों हिंदु’ओं को पश्चिम बंगाल छोड़ना होगा। इससे बड़ा झूठ नहीं हो सकता।

साथ ही शाह ने कहा था कि मैं बंगाल के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि एनआरसी लागू किया जाएगा लेकिन इस तरह का कुछ भी नहीं होने जा रहा है। मैं सभी हिंदू, बौद्ध, सिख, जैन शरणार्थि’यों को आश्वस्त करता हूं कि उन्हें देश छोड़ना नहीं पड़ेगा, उन्हें भारतीय नागरिकता मिलेगी और उन्हें एक भारतीय नागरिक के सभी अधिकार मिलेंगे।

साभारः #Jansatta