यूपी सरकार ने तनवीर अहमद खान सहित इन सात IPS अधिकारीयों जबरन किया रिटायर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने 7 डिप्टी एसपी रैंक के 7 आईपीएस अधिकारियों को जबरन रिटायर कर दिया है। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से जारी किए गए आदेश के अनुसार सेवाओं में दक्षता सुनिश्चित करने के लिए प्रांतीय पुलिस सेवा संवर्ग के 7 ऐसे पुलिस उपाधीक्षकों या सहायक सेनानायकों जिनकी उम्र 31 मार्च 2019 को 50 वर्ष पार कर गई है, उन्हें रिटायर करने का फैसला किया गया है। बता दें सर्कार ने स्क्रीनिंग कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर यह फैसला किया लिया है।

गृह विभाग के आदेश के अनुसार 15वीं वाहिनी पीएसी आगरा के सहायक सेनानायक अरुण कुमार, फैजाबाद में तैनात पुलिस उपाधीक्षक विनोद कुमार गुप्ता, आगरा पुलिस उपाधीक्षक नरेन्द्र सिंह राना, झांसी के सहायक सेनानायक रतन कुमार यादव, सीतापुर के सहायक सेनानायक तेजवीर सिंह यादव, मुरादाबाद के मंडलाधिकारी संतोष कुमार सिंह और 30वीं वाहिनी पीएसी गोण्डा के सहायक सेनानायक तनवीर अहमद खां को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई है।

बता दें कि पिछले 2 वर्षों में योगी सरकार विभिन्न विभागों के 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है। इन दो वर्षों में योगी सरकार ने 400 से ज्यादा अफसरों, कर्मचारियों को निलंबन और डिमोशन जैसे दं’ड भी दिए हैं। इतना ही नहीं, इस कार्रवाई के अलावा 150 से ज्यादा अधिकारी अब भी सरकार के रडार पर हैं।

गृह विभाग में सबसे ज्यादा 51 लोगों को जबरन रिटायर किए गए थे बिजली विभाग इंजीनियरों और कर्मचारियों के ईपीएफ में करीब 2267.90 करोड़ के घोटाले के बाद विपक्ष के निशाने पर आई उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। मिली जानकारी के अनुसार, अभी और अधिकारियों पर गाज गिर सकती है।

इन्हें किया गया रिटायर्ड
अरुण कुमार-सहायक सेना नायक 15वीं वाहिनी एसपी, जनपद आगरा

विनोद कुमार राना-पुलिस उपाधीक्षक जनपद फैजाबाद।

नरेंद्र सिंह राना-पुलिस उपाधीक्षक जनपद आगरा

रतन कुमार यादव-सहायक सेनानायक 33वीं वाहिनी एसपी झांसी

तेजवीर सिंह यादव-सहायक सेनानायक 27वीं वाहिनी पीएसी, सीतापुर

संतोष कुमार सिंह-मण्डलाधिकारी मुरादाबाद

साभार: hindi.indiatvnews

Leave a comment