VIDEO CAA-NRC Protests: नमाज़ पढ़ने के लिए जगह नहीं मिली तो केरल के इस प्राचीन चर्च ने खोल दिए दरवाजे

नागरिकता संशोधन एक्ट (Citizenship Amendment Act) को लेकर देशभर में पिछले कई दिनों से हिं’सक विरोध प्रदर्शन जारी है। और अब इस विरोध-प्रदर्शन की आंच दुनिया भर के देशों तक जा पहुंची है। वही CAA को लेकर देशभर में प्रदर्शन के दौरान कई लोगों की मौ’त हो चुकी है। लेकिन आज इन सभी के चलते एक ऐसा मामला देखने में आया जहाँ सांप्रदायिक सौहार्द के इतिहास में नए अध्याय की शुरुआत करते हुए एक प्राचीन चर्च ने मुस्लिमो के लिया अपने दरवाजों खोल दिए।

दरअसल, नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली उत्तर प्रदेश और असम से लेकर देश भर के कई राज्यों में सैकड़ों मुसलमा’न इस काले कानून का विरोध कर रहे है। और इसी के चलते केरल के कोठमंगलम बीते शनिवार को एर्नाकुलम ज़िले के कोठमंगलम में All India Professional Congress द्वारा CAA के विरोध में एक रैली निकाली गई।

चर्च में अदा हुई नमाज

इस रैली में सैकड़ों मुसलमा’न नागरिकता संशोधन कानून के खिलफ विरोध कर रहे थे की इस दौरान जब मग़रिब यानि (शाम की नमाज़) पढ़ने का वक्त हुआ और उसके लिए जगह नहीं मिली तो कोठमंगलम के ‘सेंट थॉमस चर्च’ ने मुसलमानो का दिल खोलकर स्वागत किया। और चर्च की इस नेक दिली के चलते सैकड़ों लोग एक साथ नमाज़ पढ़ पाए।

आपको बता दें मुवत्तुपुझाह से कोठमंगलम तक निकाली गयी इस रैली में कांग्रेस समेत सीपीआईएम व आईयूएमएल के कई नेता भी मौजूद रहे। वही केरल के मुस्लि’मों के आध्यात्मिक नेता सैयद मुनव्वर अली शहाब थांगल ने बताया, की कोथामंगलम में प्राचीन गिरजाघर के अधिकारियों ने जब हमें मगरिब की नमाज अदा करने के लिये जगह दी तो मैंने भारत की सांप्रदायिक सौहार्द वास्तविक आत्मा को महसूस किया।

 

ऑल इंडिया प्रफेशनल कांग्रेस (एआईपीसी) की केरल शाखा द्वारा आयोजित ‘सेक्युलर मार्च’ जब चेरिया पल्ली नाम से मशहूर गिरजाघर के निकट पहुंचा तो मगरिब (सूर्यास्त के ठीक बाद होने वाली नमाज) की नमाज पढ़ने के लिए कहा गया।

इस दौरान सबसे ख़ास बात ये रही कि हजारों मुसलमा’नो को नमाज़ के लिए पानी की जरुरत थी और चर्च के पादरी ने ख़ुद आईयूएमएल नेता सैय्यद मुनव्वर अली को वज़ू के लिए पानी की पेशकश की आईयूएमएल नेता सैय्यद मुनव्वर अली ने अपने फ़ेसबुक पर इसका ज़िक्र करते हुए लिखा चर्च के पादरी द्वारा हम लोगों का इस तरह से स्वागत करना वहां आए ईसाई लोगो को भी बहुत अच्छा लगा।

इस दौरान केरल मुस्लि’म समाज के आध्यात्मिक नेता सैयद मुनव्वर अली ने चर्च में एक साथनमाज़पढ़ रहे लोगों का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा-

”हमारे देश के लाखों लोग इसी तस्वीर को तो देखना चाहते हैं। दोस्तों इस देश को नष्ट होने से बचाना है तो प्यार को अपना ह’थिया’र और अपनी एकजुटता को अपनी ढाल बनाएं,,।