VIDEO: इस्लाम के सबसे पवित्र स्थान सहित इस मुस्लिम देश ने लगाई सभी नमाज़ो पर पावंदी, अज़ान में भी तब्दीली

सारी दुनिया मे कोराना वायरस ने कोहराम मचा रखा है. कोरोना वायरस ने दुनिया घुटने टिकाने के लिए मजबूर कर दिया है. कोरोना की वजह से दुनिया भर में अब तक तकरीबन 7 हज़ार लोगों की मौ’त हो चुकी है। जिस कारण सभी देश अपने अपने स्तर पर ठोस कदम उठाने को मजबूर हैं। बता दें चीन के वुहान से निकला यह वायरस इरान वा इटली में भी भारी तबाही मचा रहा है। जिसको देखते हुए सभी खाड़ी देशों ने भी अपने अपने स्तर पर जरूरी कदम उठाए हैं।

जहाँ कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण इस्लाम में तीसरा सबसे पवित्र स्थान मस्जिद अल अक्सा को अनिश्चतकाल के लिए बंद कर दिया गया है। यह इजरायल की राजधानी येरुशलम में मौजूद है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए, मस्जिद बंद कर दी गई है। और सभी को घर पर नमाज़ पड़ने को कहा है।

अज़ान में भी की गई तब्दीली सुनिए अज़ान..

 

आपको बता दें यह वायरस ज्यादा लोगो के एक बार जमा होने से फैलता है। इस लिए ज्यादा लोग एक जगह पर जमा ना हो पाए। इस लिए जरूरी एहति यातन कदम उठाए जा रहे हैं। ज़रूरी कदमों में से एक नमाज़ मस्जिद के बजाय घर से पढ़ने को कहा गया है। चुंकि नमाज़ के लिए एक साथ सैकड़ों लोग जमा होते हैं।

ऐसे हालात में ये वायरस आसानी से एक आदमी से दुसरे और फिर तीसरे तक जा सकता है। कुवैत ने इस कोरोना वायरस से संक्रमित देश है। वहां मरीजों की संख्या 109 तक पहुंच गई है जिस कारण कुवैत सरकार ने फैंसला लिया ताकि ये बिमारी महामारी ना बन जाए और सम्भालना मुश्किल हो जाए।

कुवैत ने सभी मस्जिदों में जुमे की नमाज साहित सभी नमाज़ो पर रोक लगाते हुए घरों से नमाज़ पढ़ने का आदेश जारी किया गया है। कुवैत में खास तौर पर लोगों को ये बताने के लिए अज़ान में भी कुछ तब्दिली की गई है।

मुअज्जिनो ने अज़ान के दौरान हया अल सलाम के बजाय अस्सलाम फिर बुयुतिकुम पुकार रहे हैं। जिसका मतलब होता है अपने घरों से ही नमाज़ पढ़ो। पहले मस्जिद में नमाज के लिए बुलाया जाता था। हालांकि अज़ान नियामित रूप से होती रहेगी।