तिरुपति बस की टिकट के पीछे दिखा हज यात्रा का विज्ञापन, मचा हड़कंप

आंध्र प्रदेश में हिंदू मंदिर शहर की यात्रा कर रहे हिंदू संघटन के लोगों द्वारा बिवाद पैदा करने का मामला सामने आया है| कहा जा रहा है कि यह बिवाद यात्रा कर रहे लोगों के बस टिकट पर छपे हज यात्रा के विज्ञापन को लेकर हुआ है जिसको लेकर यात्रियों, धरम गुरुओं और राज नेताओं ने आपत्ति जताई है यात्रियों ने मिलकर APSRTC के क्षेत्रीय प्रबंधक को यह विज्ञापन बताते हुए कहा कि यह गलत है| इस घट’ना के चलते लोगों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी पर हिंदू भावनाओं का अपमान करने का आरोप लगाया | इस मुद्दे के चलते बीजेपी के नेताओं ने विरोध कर राजनीतिक मोड़ हासिल कर लिया|

इस घटना में विपक्षी बीजेपी दल के एक नेता सुनील देवधर ने विरोध प्रदर्शित करते हुए कहा धर्मनिरपेक्ष लोग किसी भी सरकार के एजेंडे को स्वीकार नहीं करेंगे जो अल्पसंख्यक धार्मिक प्रचार को बढ़ावा देना चाहता है तिरुपति के लिए एक बस टिकट पर एक धर्म विशेष को बढ़ावा देना बेहद आ’पत्तिज’नक है यह समाप्त होना चाहिए|

यह बिवाद सोशल मीडिया में वायरल हो गया और जगह जगह सोशल मीडिया में इसका विरोध प्रदर्शित देखने को मिल रहा है दावा किया जा रहा है कि यह विज्ञापन हिंदू भावनाओं को ठेस पहुचाने के लिए बस टिकट पर दिया गया है वहीँ दूसरी तरफ कुछ लोगों के ज़रिये यह भी कहा जा रहा है कि यह बस एक मेहेज़ गलती है इसे बिवाद में बदलने की कोई आवश्यक’ता नहीं है|

इसके बाद एक विरिष्ट अधिकारी ने भी इस बात की पुष्टि की कि इस मामले को राज्य परिवहन प्राधिकरण देख रहा है। उन्हें यह कहते हुए उद्धृ’त किया गया था कि यह अल्प’संख्य’क विभाग द्वारा जारी सरकार का एक विज्ञापन है बता दें कि मई में बने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी पर यह विपक्षी दल भाजपा का यह राजनीतिक हम’ला है जो इस घ’टना के रूप में हुआ है|