कोरोना वायरस: सैटेलाइट तस्वीरों से सामने आया सच, चीन ने एक साथ जलाई 14,000 लाशें?

कोरोना वायरस: सैटेलाइट तस्वीरों से सामने आया सच, चीन ने एक साथ जलाई 14,000 लाशें?

बीजिंग: चीन में कोरोना वायरस के चलते एक तरफ़ कई लाखो ज़िंदगियां ख़तरे में हैं तो दूसरी तरफ़ अर्थव्यवस्था पर भी इसकी बहुत बड़ी मार पद रही है. चीन की अर्थव्यवस्था को हो रहे नुक़सान की एक बड़ी वजह वायरस को फैलने से रोकने के लिए होने वाला खर्चा है। वही चीन कोरोना वायरस से होने वाली मौतों को अकड़ा 950 बता रहे है लेकिन क्या है सच?

हाल ही में चीन में कोरोना वायरस से होने वाली मौ’तों का चीन की सबसे बड़ी कंपनी टेन्सेंट का एक डाटा लीक हो गया था जिसमे कंपनी ने यह दवा किया था की कोरोना वायरस के चलते चीन में अब तक 24,589 मौ’तें हो चुकी है साथ ही1,54,023 लोग इससे संक्रमित है।

चीन की सरकार पर कोरोना वायरस के चलते हुई मौ’तों का वास्तविक अकड़ा छुपाने और बड़े पैमाने पर श’वों को गुपचुप जलाने के आरोप लग रहे हैं. हालांकि चीन में शव दाह की परंपरा नहींं हैै। शवों को जलाने वाली बात सोमवार को वुहान की सैटेलाइट तस्वीर से सामने आई. इसमें आग के बड़े गोले के रूप में सल्फर डाई ऑक्साइड गैस दिख रही है।

बता दें वैज्ञानिकों के मुताबिक ऐसा मेडिकल वेस्ट या शवों को जलाने से होता है। वही इंटेलवेव के मुताबिक इतना धुआं करीब 14 हजार से भी अधिक श’वों को जलाने पर निकलता है. श’वों को जलाने पर सल्फर गैस के अलावा पारा, डाइऑक्सिन, हाइड्रोक्लोरिक एसिड जैसे केमिकल और गैस भी निकलते हैं।

वही आशंका जताई जा रही है कि अगले कुछ हफ्तों में वुहान में संक्रमित लोगों की संख्या 5 लाख तक पहुंच गई है। गौरतलब है कि वुहान में 23 जनवरी से ही 1 करोड़ 10 लाख लोग अपने-अपने घरों में कैद हैं।

माना जा रहा है कि संक्रमण की यही रफ्तार रही तो फरवरी खत्म होते-होते शहर की 5 प्रतिशत आबादी यानी 5 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो जाएंगे।

वही इस हफ़्ते अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जिवा ने कहा था कि कोरोना संकट की वजह से थोड़े समय के लिए ही सही पर वैश्विक अर्थव्यवस्था के सुस्त पड़ने की संभावना है। हालांकि उन्होंने एहतियात बरतते हुए ये भी कहा कि आगे के बारे में ज़्यादा कुछ कहना फ़िलहाल जल्दबाज़ी होगी।

Leave a comment