दुनियाभर में इस्लाम के खिला’फ फैल रही गलत अफवाहों पर रोक थाम के लिए तुर्की, मलेशिया और पाकिस्तान ने उठाया बड़ा कदम

आये दिन हम इस्लाम के खिला’फ कुछ ना कुछ बातें सुनते रहते हैं दुनिया भर में लोग इस्लाम के खिला’फ गलत फेमियाँ फैलाते भी है और उनको सच मानते भी है| इसी के चलते अब तुर्की, मलेशिया, पाकिस्तान एक साथ मिलकर इस्लाम के खिला’फ फैल रही बेबुनियाद अफवाहों और गलत धारणाओं को दूर करने के लिये अंग्रेजी भाषी इस्लामी टेलीविजन चैनल शुरू करने का फैसला किया है ताकि जो लोग इस्लाम के बारे में जानते नहीं हैं उनको इस्लाम के बारे में ज्ञान हो सके और जो लोग इस्लाम से जलते हैं इसको गल’त फेमि’याँ और गलत धारणा फैलाकर मिटाना चाहते हैं उनसे भी लोगों को बचाया जा सके|

बता दें कि संयु’क्त राष्ट्र महासभा के 74 वें सत्र में शामिल होने न्यूयॉर्क आए प्रधानमंत्री खान ने कहा कि इस्लामी इतिहास से दुनिया को अवगत कराने के लिए चैनल पर मुसलमा’नों से संबंधित कार्यक्रमों और फिल्मों का प्रसारण किया जाएगा।

साथ ही इमरान खान ने एक ट्वीट में कहा कि राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन, प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद और मैंने आज बैठक की। इस बैठक में इस्लाम को लेकर बनी गलत धार’णा’ओं को दूर करने और हमारे महान ध’र्म इस्ला’म के बारे में एक अंग्रेजी चैनल शुरू करने का फैसला किया गया।

उन्होंने कहा कि मुसलमा’नों के खिला’फ गलतफहमी को दूर किया जाएगा, ईशनिंदा के मुद्दे को सही संदर्भ में प्रस्तुत किया जाएगा, अपने लोगों को शिक्षित, अवगत कराने के लिए मुस्लि’म इतिहा’स पर सीरीज और फिल्मों का निर्मा’ण किया जाएगा।

मीडिया की खबर के मुताबिक, पाकिस्तान, तुर्की की सह मेजबानी में ‘नफरती भाष’णों का प्रतिकार विषय पर प्रधानमंत्री खान गोलमेज चर्चा में उपस्थित हुए। अपने संबोधन में खान ने नफरत भरे भाष’णों का प्रतिकार, इस्ला’म को लेकर गलत धारणा को दूर करने के लिए प्रभावी उपायों पर जोर देते हुए कहा कि दोनों चुनौति’यों का समाधा’न करने की जरूरत है।

साथ ही प्रधानमंत्री ने कहा कि किसी भी समुदाय के हाशि’ए पर जाने से क’ट्टर’ता बढ़ सकती है। तुर्की के राष्ट्रप’ति एर्दोआन ने घृ’णा भाष’ण को इंसानियत के खिला’फ सबसे जघन्य अपरा’ध बताया है।

साभारः AmarUjaala