VIDEO: केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का कलमा पढ़ते हुए वीडियो वायरल

आज मोदी सरकार के केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में पीयूष गोयल मंच से कहते हुए नज़र आ रहे हैं कि मैं रोज सुबह पूजा करने से पहले कलमा पढ़ता हूं। पीयूष गोयल इसी पहले कलमे पर ट्रोल हो रहे हैं. दरअसल उनका एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें पीयूष गोयल तालीम की ताक़त नाम के एक प्रोग्राम में शरीक हुए थे. मंच पर बोल रहे थे कि मैं रोज सुबह पूजा करने से पहले कलमा पढ़ता हूं।
गोयल मंच से कलमा पढ़कर भी सुना रहे हैं- ला इलाहा इल्लल्लाह मुहम्मदुर रसूलुल्लाह।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के इस वायरल वीडियो को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स अलग-अलग तरह से रिएक्ट कर रहे हैं। बहुत से यूजर्स इस वीडियो पर लिख रहे हैं कि ये लोग सिर्फ मुसलमा’नों की हो रही लिंचिं’ग को रुकवा दें तो हम समझ जाएंगे कि इन्हें मुसलमा’नों से मोहब्बत है बाकि इन सबसे कोई फायदा नहीं। वहीं बहुत से यूजर्स लिख रहे हैं कि यही तो हमारे देश की संस्कृति है।

Image Source: Google

वहीं कुछ यूजर्स ऐसे भी हैं जो रेल मंत्री को इस वीडियो पर ट्रोल भी कर रहे हैं। आपको बता दें तालीम की ताकत नाम के किसी कार्यक्रम का 56 सेकेंड का एक वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है। वीडियो क्लिप में दिख रहा है कि मंच पर कुछ मुस्लिम समाज के लोग भी बैठे हुए हैं जिनमें जफर सरेशवाला भी मौजूद हैं।
पीयूष गोयल डाइस से अपना भाषण दे रहे हैं।

पीयूष गोयल अपनी बात रखते हुए कहा की- मैंने जफर भाई से परमिशन ले रखी है कि मैं शुरुआत कर सकूं उस वाक्य से जो हमने तब सीखा था जब हम छोटे थे। वो मेरे मन में ऐसा बैठ गया है कि रोज सुबह जब मैं पूजा करता हूं तो उसमें मैं वो वाक्य भी साथ में जोड़ देता हूं- ला इलाहा इल्लल्लाह मुहम्मदुर रसूलुल्लाह। और वास्तव में सभी धर्मों की जो ताकत है वो यही ताकत है कि जब हम सब अमन और शांति से एक दूसरे के साथ मिलकर चलते हैं तभी पूरे देश का निर्माण होता है।

हलाकि मुसलमा’न मानते हैं कि कलमा पड़ना अल्लाह को स्वीकार करना है. पहला कलमा चूंकि ये कहता है कि अल्लाह के सिवाय दूसरा कोई ईश्वर नहीं, तो इसे पढ़ने का मतलब है कि आपने इस्लाम अपना लिया. आप मुसलमा’न हो गए. शायद इसी वजह से कट्टर हिं’दू पीयूष गोयल के कहे से भड़’के हुए हैं।

वही कई लोग केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की कही इस बात को सहन नहीं कर पा रहे कि वो पूजा करते समय पहला कलमा पढ़ते हैं. कई सवाल कर रहे हैं कि क्या बीजेपी भी मुस्लि’म तुष्टिकरण करने लगी है? कई लिख रहे हैं कि अगर पीयूष सच कह रहे हैं, तो हिंदुओं को बीजेपी पर भरोसा नहीं करना चाहिए।