यूपी में नहीं घुस पाईं कांग्रेस की बसें, प्रियंका गांधी के सचिव पर हुई एफ़आईआर

देश भर में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे है इसी के चलते देश भर में लॉकडाउन लगया गया है. लॉकडाउन में बड़ी तादात में मजदूर वर्ग अपने घरों से दूर दुसरें शहरों में फंसे हुए है और घर वापसी की गुहार लगा रहे है. कई मजदूर को इस तेज गर्मी में भी हिम्मत जुटा कर पैदल ही अपने घर की तरफ निकल चुके है.

मजदूरों की मजबूरियों को देखते हुए हाल ही में कांग्रेस की और से घोषणा की गई थी कि वह मजदूरों को अपने घर भेजने के लिए 1000 बसें चलएगी लेकिन अब यह मामला एक राजनीतिक विवाद का रंग ले चूका है. दरअसल कांग्रेस दवारा चलाई गई बसें उत्तरप्रदेश में प्रवेश नहीं कर पाई.

इसे लेकर अब मंगलवार को कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सारी हदें पार करने का आरोप उत्तर प्रदेश सरकार पर लगाया हैं.  प्रियंका वाड्रा ने अपने ट्विट में लिखा कि उप्र की योगी सरकार ने हद कर दी है. जिस समय हम सबको राजनीतिक परहेजों से परे जाते हुए त्रस्त और असहाय प्रवासियों की मदद करना चाहिए वहां वह दुनिया भर की मुश्किलें हमारे सामने रखने में लगे है.

वहीं योगी सरकार ने कांग्रेस नेताओं पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि कांग्रेस की तरफ से बसों के नंबरों की जो लिस्ट दी गई है वह गलत है इसमें से कई सारे वाहन दोपहिया ऑटो और लोडिंग वाहन हैं. इतना ही नहीं वाड्रा के सचिव और यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के खिलाफ बसों की सूची में गलत जानकारी देने के लिए एफआईआर भी दर्ज की गई है.

आपको बता दें कि प्रियंका ने 16 मई को सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र द्वारा मजदूरों की वापसी के लिए 1,000 बस देने की पेशकश की थी. वाड्रा ने बताया है कि उन्होंने बसें भेजी है जो गाजियाबाद बॉर्डर और राजस्‍थान बॉर्डर पर खड़ी है और यूपी सरकार द्वारा संचालन की अनुमति मिलने का इंतजार कर रही हैं.

इतना ही नहीं प्रियंका ने योगी के सामने पेशकश की है कि वह बसों पर बीजेपी के झंडे और स्टीकर लगाकर भी बसें चलाने को तैयार है. अगर बीजेपी सब से यह कहना चाहती है कि यह बसें बीजेपी द्वारा संचालित है तो यह भी उन्हें मंजूर है. लेकिन कम से कम बसों को अनुमति तो दी जाए.

प्रियंका ने बताया कि अगर इन बसों को अनुमति दे दी जाती तो अब तक  36000 लोग अपने घर रवाना हो चुके होते. वहीं अगर बसों के कुछ नंबर गलत हैं तो उन्होंने नई लिस्‍ट देने की बात भी कही. प्रियंका ने कहा कि हमारे सेवा भाव में मत ठुकराइए, इस आपकी एक राजनीति के चलते तीन दिन व्यर्थ हो गए है और इन्ही तीन दिनों में सड़कों पर चलते हुए हमारे देशवासी दम तोड़ रहे हैं.