VIDEO: अब इस बड़े राज्य में NRC के लिए लगभग सभी तैयारि’यां हुई पूरी, बाकि…

असम के बाद अब उत्तर प्रदेश में राष्ट्री’य नागरिक रजिस्टर जल्द लागू होने की खबर मिली है| कहा जा रहा है कि यूपी पुलिस ने सभी जिलों में रह रहे अवै’ध बांग्ला’देशि’यों को चि’न्हि’त करने का फैसला किया है। जिसके चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी यूपी में NRC लागू करने का फैसला लिया है| ज़ी न्यूज़ पर छपी खबर के मुताबिक़, NRC के लिए डीजीपी मुख्यालय ने मसौ’दा तैयार कर लिया है।

वहीँ, सूत्रों के मुताबिक खबर मिली है कि आज 01 अक्टूबर से सभी जिलों के एसपी, आईजी, डीआईजी रें’ज और एडीजी जो’न को पत्र भेजा जाएगा और सभी को एनआरसी पर काम शुरू करने के निर्दे’श दिए जाएंगे। जानकारी के मुताबिक, जो मसौदा तैयार किया है उसमें सभी जिलों के बाहरी छो’र पर स्थित रेलवे स्टेशन बस स्टैंड रोड के किना’रे और उसके आस पास बसी नई बस्तियों की पहचान की जाएगी। जहां, बां’ग्लादे’शी और अन्य विदेशी नागरि’क शर’ण लेते हैं।

इसके बाद विदेशी नागरि’कों की पहचान कर उन्हें देश से निकालने के लिए प्रस्ता’व निर्धारि’त प्रारू’प में शासन के गृ’ह वीजा विभाग को भेज दिया जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया की समय समय पर समी’क्षा होगी और वि’देशि’यों को वापस भेजने के लिए आईजी बीएसएफ कोलकाता से समन्व’य स्थापित किया जाएगा।

बता दें कि इसके साथ पुलिस यह भी पता लगाएगी कि विदेशी नागरिकों द्वारा अपने प्रवा’स को विनियमि’त करने के लिए कौन कौन से फ’र्जी अभिलेख व सुविधा’एं ले ली गई है। जांच में अगर संबंधि’त व्यक्ति अपना पता अन्य राज्यों, जिलों में बताता है तो स’मयब’द्घ तरीके से उसका सत्या’पन कराया जाएगा

जानकारी के लिए बता दें कि असम में NRC की फाइनल लिस्ट आने के बाद लगभग 19 लाख लोगों को बाह’र कर दिया गया है जिसमे करीब 13 लाख हि’न्दू है, 3 लाख के आस पास मुस’लमा’न है और बाकी अन्य शामिल है| हालांकि NRC से बाहर हुए लोगों को अभी हाल में विधानसभा में बो’ट डालने की इजाज़त तो दे दी हैं पर आगे उनके साथ क्या किया जाएगा यह कुछ नहीं कहे सकते|