ताजमहल का दीदार करना अब हुआ महंगा, जानें कितने की हुई टिकट

ताजमहल का दीदार करना अब हुआ महंगा, जानें कितने की हुई टिकट

ताजमहल दुनिया के साथ अजूबों में से एक है जिसको प्यार की निशानी के नाम से जाना जाता है| दुनिया भर से लोग इसे देखने और इसका दीदार करने के लिए भारत आते हैं| एक तरफ यह प्यार की निशानी हैं और साथ अजूबों में से एक है वहीँ दूसरी ओर इस इमारत का देश की अर्थ व्यवस्था पर भी काफी असर है| ताज महल से होने वाली कमाई देश के सरकारी ख़ज़ाने में जाती है लेकिन अब खबर है कि अब ताजमहल सहित शहर के सभी स्मारकों का दीदार महंगा होने जा रहा है। सरकार महंगाई को देखते हुए और पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी को देखते हुए देश की सभी इमारतों में लगने वाले टिकट की कीमतें बड़ा रही है|

जानकारी के मुताबिक़ गुरुवार को हुई आगरा विकास प्राधिकरण बोर्ड की बैठक में स्मारकों पर लिए जाने वाले पथकर की दरों में वृद्धि का प्रस्ताव पास कर दिया है। अब यह प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा, शासन की स्वीकृति मिलते ही नई दरों को लागू किया जाएगा। हालांकि ताज और आगरा किला पर सार्क देशों के पर्यटकों के लिए पथकर में वृद्धि नहीं की गई है।

बता दें कि बोर्ड की बैठक गुरुवार को मंडलायुक्त अनिल कुमार की अध्यक्षता में हुई। प्राधिकरण के अधिकारियों ने ताजमहल, आगरा किला, सिकंदरा, एत्मादुद्दौला, फतेहपुरी सीकरी में पर्यटन सुविधाएं विकसित करने का हवाला देकर पथकर की दरों में बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा है।

इस प्रस्ताव में ताजमहल पर देशी पर्यटकों के लिए पथकर की राशि 10 रुपये से 40 रुपये करने, विदेशी पर्यटकों के लिए 50 से 600 रुपये करने का प्रस्ताव रखा है। आगरा किला पर देशी पर्यटकों के लिए पथकर राशि 10 से बढ़ाकर 40 रुपये, विदेशी के लिए 50 से 600 रुपये करने को प्रस्ताव दिया है।

वहीँ दूसरी ओर सिकंदरा स्मारक पर देशी पर्यटकों के लिए पथकर राशि पांच रुपये से बढ़ाकर 25 रुपये, विदेशी के लिए 10 से बढ़ाकर 300 रुपये और सार्क देशों के लिए पांच रुपये से बढ़ाकर 50 रुपये का प्रस्ताव दिया है। साथ ही एत्मादुद्दौला स्मारक पर भी सिकंदरा की तरह यह व्यवस्था लागू रखने का भी प्रस्ताव दिया है।

इसी के चलते फतेहपुर सीकरी में घरेलू पर्यटकों लिए 10 से बढ़ाकर 40 रुपये, विदेशी मेहमानों के लिए 10 बढ़ाकर 600 रुपये और सार्क देशों के पर्यटकों के लिए 10 रुपये से बढ़ाकर 40 रुपये पथकर वसूलने का प्रस्ताव किया है। अब बोर्ड से स्वीकृति मिलने के बाद यह प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा।

जानकारी के लिए बता दें कि बैठक में डीएम एनजी रवि कुमार, एडीए उपाध्यक्ष शुभ्रा सक्सेना, नगर आयुक्त अरुण प्रकाश, एडीएम सिटी केपी सिंह, संयुक्त सचिव एडीए सोमकमल सीताराम सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

वहीँ विकास प्राधिकरण बोर्ड ने स्मारकों पर पथकर की वृद्धि का प्रस्ताव पास कर दिया हैअब इन प्रस्तावों को शासन को भेजा जाएगा। वहां से स्वीकृति मिलने के बाद सभी स्मारकों पर नई दरों को लागू कर दिया जाएगा।

साभारः #LiveHindustaan

Leave a comment