Home desh VIDEO: देश के लिये कुछ करने की चाहत, सिर्फ़ 12 साल के हसन अली ने बनाया, इंजीनियरिंग पढ़ाने वाला रोबोट

VIDEO: देश के लिये कुछ करने की चाहत, सिर्फ़ 12 साल के हसन अली ने बनाया, इंजीनियरिंग पढ़ाने वाला रोबोट

VIDEO: देश के लिये कुछ करने की चाहत, सिर्फ़ 12 साल के हसन अली ने बनाया, इंजीनियरिंग पढ़ाने वाला रोबोट

दुनिया में जहां हम नए नए अविष्का’रों के बारे में सुनते रहते हैं तो वही दूसरी तरफ देश के होनहार वैज्ञानिकों के बारे में भी खबर आती रहती है पर क्या आपने एक बच्चे को उन बड़े बड़े वैज्ञानिकों के मुकाबले दिमाग चलाते देखा है जिसको शायद अजूबा कहना भी गलत नहीं होगा| हम बात कर रहे हैं ऐसे ही एक बच्चे की| बता दें कि जहां दुनिया भर में बड़े बड़े वैज्ञानिक मौजूद हैं और आविष्का’र कर देश का नाम रोशन कर रहे हैं वहीँ हमारा देश भारत भी पीछे नहीं हैं| यह 12 साल का बच्चा यहीं हिन्दुस्तान के हैदराबाद का है जिसने अविष्का’रों की दुनिया में कदम रख अपना इतिहास बना लिया है|

अल्बर्ट आइंस्टीन जैसा दिमाग रखने वाला यह बच्चा मात्र 12 साल की उम्र में ही इसने एक ह्यूमन फ्रेंडली रोबोट बना लिया है| हैरानी की बात तो यह है कि जहां बड़े बड़े वैज्ञानिकों को किसी आविष्का’र में सालों लग जाते हैं वहीँ इस बच्चे ने सिर्फ 15 दिन में रोबो’ट को बना कर तैयार कर लिया है|

HASAN ALI

आपको बता दें कि इस बच्चे का नाम हसन अली है और यह हैदराबाद का रहने वाला है| आपको जा’न कर हैरानी होगी कि यह अभी सिर्फ 8 वीं कक्षा में पड़ता है लेकिन 8 वीं का छात्र होने के बावजूद भी सिविल मैकेनिकल और इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग स्टूडेंट को भी पढ़ाते है। युवा प्रतिभा हसन अली ने बताया वह अपने देश के लिए कुछ बहुत अच्छा करना चाहता है।

इतनी सी उम्र में इतनी बड़ी सोच रखने वाला हसन अली अपने रोबोट के लिए आज पूरी दुनिया में मशहूर हो गया है| बता दें कि हसन अली ने शुक्रवार को एएनआई की बात चीत में बताया कि मैं इंजीनियरों को डिजाइन और ड्राफ्टिंग के बारे में सिखाता हूं और इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए मैं एम्बेडेड सिस्टम इंटरनेट ऑफ थिंग्स IoT और रोबोटि’क्स सिखाता हूं।

 

इसके बाद हसन ने बताया कि मैंने सौ से अधिक प्रोजेक्ट किए हैं और उनमें से एक पर काम करते हुए, मुझे एक काम करने वाला रोबोट बनाने का आइडिया आया। रोबोट विकसित करने में मुझे केवल 15 दिनों का समय लगा जो वॉयस कमां’ड ले सकता है, एक लाइन का अनुसरण कर सकता है। इसी के साथ इस रोबोट को ऑटोमैटिक मोड पर सेट भी किया जा सकता है।

इसी के साथ हसन अली ने यह भी कहा कि मैंने इस रोबोट को लोगों के लिए बनाया है। हम इस रोबोट का कई फर्मों जैसे रेस्टुरेंट और होटल में उपयोग कर सकते हैं। यह घर में खाना परोसने में घर के बड़े लोगों की मदद भी कर सकता है। इसके अलावा यह रोबोट बीटेक और एमटेक के इंजीनियरिंग स्टूडेंट को पढ़ाने में भी मदद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here