VIDEO: हिंदू वोटों पर नजर, ममता बनर्जी ने ‘मुस्लि’म क’ट्टरता’ को लेकर किया सतर्क कहा- ओवैसी के जाल में फंसने से…

नई दिल्लीः विधानसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव देखने को मिला है. अक्सर भाजपा पर हम’लावर रहने वालीं TMC प्रमुख ने इस बार इशारों-इशारों में AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी को आड़े हाथों लिया है. दरअसल पश्चिम बंगाल में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन अपनी जड़ें जमाने की कोशिश कर रही है। इसी को लेकर ममता बनर्जी ने सोमवार को यहां पार्टी कार्यकर्ताओं को एक मंच पर लाकर राजनीतिक पार्टी का आयोजन किया है।

आपको बता दें बंगाल के कूचबिहार में एक कार्यक्रम के दौरान ममता बनर्जी ने यहां अल्पसंख्यक क’ट्टर’ता को लेकर चेताव’नी दी है. इसी के साथ उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से अपील की है कि उन्हें असदुद्दीन ओवैसी जैसे लोगों पर भरोसा नहीं करना चाहिए और उनके बुने हुए जाल में न फसना चाहिए।

ममता बनर्जी ने अल्पसंख्यक समुदाय से अपील करते हुए असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधा ममता ने कहा कि कुछ नेता लोगों में बंटवारा पैदा कर रहे हैं, उनकी एक पार्टी है जो इसको बढ़ावा दे रही है. ये लोग हैदराबाद से आते हैं और बंगाल के इलाके में रैलियां कर रहे हैं. ममता ने कहा कि इस तरह के लोग अल्पसंख्यकों की सुर’क्षा का दावा करते हैं, लेकिन आप इनके झांसे में ना आएं ये लोग अपना जाल बिछा रहे है और आप इसमें फसते जा रहे हो।

एक बार फिर अल्पसंख्यक समुदाय से अपील करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि मैं आपसे कहती हूं कि किसी भी तरह की फोर्स के बहकावे में ना आएं. इसी के साथ उन्होंने कहा कि मैं हिंदू लोगों से भी अपील करती हूं कि वह हिंदू क’ट्टर’पं’थी ताक’तों के भी बहकावे में ना आएं ये लोग अपनी राजनितिक रोटियां सेक रहे है।

बता दें बंगाल के कूचबिहार में एक कार्यक्रम के दौरान ममता बनर्जी ने यहां ‘अल्पसंख्यक क’ट्टर’ता’ को लेकर चे’ताव’नी दी है. ममता ने कहा कि जिस तरह हिंदुओं में कुछ क’ट्टरवा’दी हैं, उसी तरह ये लोग मु’स्लि’मो में भी क’ट्टर’वा’दी हैं। ये लोग भाजपा से पैसा लेते हैं। ये यहां नहीं रहते। ये हैदराबाद में रहते हैं। वे यहां आएंगे और कहेंगे कि मैं आपको सुर’क्षा दूंगा।

आपको बता दें ममता की इस बात से यह तो स्पष्ट हो गया है कि अब ओवैसी की पार्टी बंगाल की जमीन पर अपने पैर जमा रही है। इसके साथ ही AIMIM अब बंगाल में अपनी पार्टी से जुड़ने के लिए नए सदस्यों को जोड़ने का प्रयास कर रही है। और इसी बात के डर से ममता बनर्जी अपने नेता और कार्यकर्ताओं को चौकन्ना कर रही हैं।