VIDEO: आखिर कौन है ये पीली साड़ी वाली पोलिंग अफसर, जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई?

लोकसभा चुनाव 2019: पिछेल दिनों से सोशल मीडिया पर एक महिला पोलिंग ऑफिसर की तस्वीरें जमकर वायरल हो रही है। पीली साड़ी, चेहरे पर काला चश्मा, चुनाव आयोग की ड्यूटी वाला पहचान पत्र और हाथों में ईवीएम लिए इस महिला अधिकारी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल की जा रही है। कोई इस महिला अधिकारी को खूबसूरत तो कोई बिंदास बता रहा था। जिसके नाम और पहचान के बारे में सोशल मीडिया पर अलग अलग दावे किए जा रहे है।

आपको बता दें प इन महिला पोलिंग अधिकारी का नाम रीना द्विवेदी है और वह पीडब्ल्यूडी में जूनियर असिसटेंट के पद पर तैनात हैं। बीती 5 मई को लखनऊ में नगराम पोलिंग सेंटर पर चुनाव ड्यूटी के लिए रवाना होते हुए रीना द्विवेदी की तस्वीरें वायरल हुई थीं।

अब स्थिति यह है कि रीना द्विवेदी सोशल मीडिया सेंसेशन बन गई हैं। इंटरनेट पर रीना द्विवेदी के वीडियो भी छाए हुए हैं। कुछ वीडियो में रीना द्विवेदी पोलिंग सेंटर पर मतदान करा रही हैं और बैकग्राउंड में फिल्मी गाने चल रहे हैं। एनबीटी की एक खबर के अनुसार, रीना द्विवेदी का कहना है कि “मेरा मानना है कि जो काम करो बिंदास होकर करो।

फिर चाहे वह चुनाव ड्यूटी ही क्यों न हो। हर पल को एन्जॉय करना चाहिए। मुझे समझ नहीं आता कि लोग चुनाव ड्यूटी से भागते क्यों हैं। अगर मैं भी भागती तो शायद आज मुझे कोई भी नहीं जानता। आपको बता दें रीना द्विवेदी को लेकर लोग अलग अलग तरहे के दावे कर रहे है।

दावा नंबर 1. इनका नाम नलिनी सिंह है.

दावा नंबर 2. जयपुर की हैं और समाज कल्याण विभाग में हैं.

दावा नंबर 3. इनकी ड्यूटी ईएसआई के नजदीक कुमावत स्कूल में थी.

दावा नंबर 4. इनके बूथ पर 100% मतदान हुआ है.

इस वायरल तस्वीर के बारे में जानकारी खोजी गई तो पता चला कि इनमें से कोई भी दावा सही नहीं है. न ये तस्वीर जयपुर की है और न ही इस अफसर का नाम नलिनी सिंह है. ये लखनऊ की फोटो है जिसे पत्रकार तुषार रॉय ने खींचा. लखनऊ के पीडब्लूडी विभाग में कार्यरत इस अफसर का नाम है रीना द्विवेदी है।

लखनऊ में 6 मई को मतदान था. उसके एक दिन पहले रीना द्विवेदी लखनऊ के नगराम में बूथ नंबर 173 पर थीं. तभी पत्रकार ने ये तस्वीरें खींचीं जो बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हुईं. रीना का कहना है कि ‘हम ईवीएम के साथ लौट रहे थे तभी किसी पत्रकार ने हमारी फोटो खींची।

 

इसे काफी वायरल कर दिया गया है और लोग रास्ते चलते मेरे साथ सेल्फी लेने आ जाते हैं. तस्वीर के साथ कुछ पॉजिटिव और कुछ निगेटिव बातें फैलाई जा रही हैं. 100 प्रतिशत मतदान का दावा गलत है. मेरे मतदान केंद्र पर 70 प्रतिशत मतदान हुआ था।