ट्रिपल तलाक से पीड़ित मुस्लि’म महिलाओं के लिए योगी सरकार ने किया ऐलान, अब हर महीने मिलेगा…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को तीन तलाक को लेकर एक बड़ा बयान दिया है| मुख्यमंत्री ने बुधवार को कहा कि सरकार तीन तलाक पीड़ि’ताओं के साथ है। बता दें कि वह बुधवार को यहां इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं के साथ संवाद कर रहे थे। पीएम जन विकास कार्यक्रम के तहत हुए इस आयोजन में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार तीन तलाक पीड़ि’ताओं की नि:शुल्क पैरवी करेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि तीन तलाक पीड़ि’ताओं के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा तथा पात्रता के मुताबिक़ उनको केंद्र एवं प्रदेश सरकार की योजनाओं का लाभ मिलेगा एवं योग्यता के अनुसार उनको सरकार समायोजित भी करेगी।

इसके बाद योगी ने कहा कि इन बच्चों को कौशल विकास कार्यक्रम के तहत रुचि के अनुसार प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने तीन तलाक पीड़ि’त महिलाओं से कहा कि बंदिशों और चुनौति’यों के बावजूद सदियों से जारी एक कुरीति के खात्मे और अपने हक के लिए संघर्ष का जो जज्बा आप सबने दिखाया, वह काबिले तारीफ है।

साथ ही उन्होंने कहा कि आपके सफल संघर्ष से आप जैसी पीड़ि’ताओं को जीने की राह मिली है। उनके संघर्ष का माद्दा बढ़ा है, आपकी लड़ाई जोड़ने और निर्मा’ण की है, लिहाजा इसे हम कमजोर नहीं होने देंगे। इंसाफ नहीं मिलने तक सरकार हर पीड़ि’ता को साल में छह हजार रुपये देगी। पात्रता के मुताबिक़, केंद्र एवं प्रदेश सरकार की सारी योजनाओं का भी लाभ उन्हें मिलेगा।

इसी के साथ ही योगी ने निर्देश दिया कि पीड़ि’त महिलाओं को चिन्हि’त करने के लिए सभी मंडलों में इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाएं और मिलने वाले आवेदनों की समीक्षा अपर मुख्य सचिव गृह स्वयं करें। उन्होंने कहा कि जांच करने वाले पुलिस अधिकारी की जवाबदे’ही तय होनी चाहिए और दोषी पाए जाने पर दं’ड भी सुनिश्चित किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज कल्याण और संबंधित विभाग मिलकर तीन तलाक पीड़ि’ताओं के समग्र विकास के लिए ठोस कार्ययोजना बनाकर उसे प्रभावी तरीके से अमल में लाएं तथा वक्फ की संप’त्ति में भी पीड़ि’ताओं को हक दिला’ना सुनिश्चित करें।

साभारः #Jansatta