यूपी बजट: योगी ने मुसलमानों को बजट में दिया ऐसा तोहफा की भगवा संघठन हुए खफा

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 से पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी बजट पेश कर किसानों, महिलाओं और सामान्य वर्ग के लोगों को तवज्जो देकर चुनावी मैदान तैयार कर लिया है। बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने योजनाओँ की बरसात कर दी है. योगी के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने 4.79 लाख करोड़ का बजट पेश किया है जिसमें 21.212 करोड़ की नई योजनाओँ की घोषणा की गई है. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले योगी सरकार ने बीजेपी के धार्मिक एजेंडे को सबसे ऊपर रखा है।

अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति योजना के लिए 942 करोड़ रुपये, अरबी-फारसी मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए 459 करोड़ रुपये की व्यवस्था। एक जनपद एक उत्पाद योजना के लिए 250 करोड़ रुपये की व्यवस्था, युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ रुपये और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम प्रोत्साहन नीति 2017 के लिए 10 करोड़ रुपये का बजट।

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के लिए 6,240 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित स्वास्थ्य पर बड़ा ऐलान कैंसर संस्थान लखनऊ के लिए 248 करोड़ रुपये का ऐलान। लखनऊ में अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय के लिए 50 करोड़ रुपये। उत्तर प्रदेश में आयुष विश्वविद्यालय खुलेगा। बजट में 10 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया।

36 नए थानों और पुलिस के लिए बैरक बनाने को 700 करोड़ रुपये, 7 पुलिस लाइन के लिए 400 करोड़ रुपये और पुलिस के टाइप a-b आवास के लिए 700 करोड़, पुलिस आधुनिकीकरण के लिए 204 करोड़ रुपये का प्रस्ताव।

यूपी बजट वित्त मंत्री पेश कर की 21,212 करोड़ की नई योजनाओं की घोषणा जिसमे सड़क के लिए लोकनिर्माण विभाग के बजट में भी 12.6 फीसदी की वृद्धि

बजट पेश करने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि यूपी के बजट में किसान महिला, सबका ख्याल रखा गया. उन्होंने कहा कि इस बजट में हर तबके का ध्यान रखा गया है. हर जिले में समान बिजली वितरण होगी।