उत्तर प्रदेश के मदरसों को लेकर योगी सरकार ने किया एक और बड़ा ऐलान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मदरसों के लिये राज्य सरकार ने नई सौगात देने का ऐलान किया है, उत्तर प्रदेश के मदरसा में पढ़ रहे छात्रों के मन में देशभक्ति की भावना जगाने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार लगातार कवायद कर रही है. इसी के मद्देनजर मदरसा में पढ़ रहे छात्रों के लिए योगी सरकार राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC) और स्काउट-गाइड प्रशिक्षण शिविर शुरू कर रही है. इतना ही नहीं सरकार ने मदरसों में समाज के हर वर्ग के छात्रों को प्रवेश देने की योजना भी बनाई है. यही वजह है कि सरकार अब मदरसे में NCERT पाठ्यक्रम को शामिल कर रही है।

यूपी के अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री बलदेव औलख ने इंडिया टुडे से बातचीत करते हुए कहा, हम मदरसों को आधुनिक बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इसीलिए वहां NCERT की किताबें उपलब्ध कराई जाएंगी. मदरसों में अब अरबी और उर्दू के अलावा अंग्रेजी विज्ञान गणित हिंदी और अन्य विषयों को भी पढ़ाया जाएगा इसलिए हम चाहते हैं कि मदरसे दूसरे धर्म के छात्रों को भी प्रवेश मिले।

Image Source: Google

मदरसा में पढ़ने वाले छात्रों को एनसीईआरटी की मुफ्त किताबें मुहैया कराएगी. इसके साथ ही मदरसों में राष्ट्रीय कैडेट कोर एनसीसी और स्काउट-गाइड प्रशिक्षण शिविर शुरू किए जाएंगे। लक्ष्मीनारायण चौधरी ने बताया कि सरकार का मकसद बच्चों के भविष्य को संवारना है, ताकि उनका कल बेहतर हो सके. मदरसों में अब अरबी और उर्दू के अलावा अंग्रेजी विज्ञान गणित हिंदी और अन्य विषयों को भी पढ़ाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलूंगा और मदरसों के लिए एक आदेश जारी किया जा सकता है. मंत्री ने यह भी कहा कि किसी भी गैरकानूनी गतिविधि को करने वाले शिक्षण संस्थानों के खिला’फ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश में इस समय 500 से ज्यादा मदरसा संचालित किए जा रहे हैं. इन सभी मदरसों में हजारों की संख्या में छात्र पढ़ते हैं. राज्य सरकारें अलग से लिए मदरसे का बजट बनाती हैं. इसके साथ ही सैलरी और स्कूल का खर्च भी राज्य सरकार देती है।

मदरसा शि़क्षा पर यूपी सरकार लगातार काम कर रही है. इससे पहले मदरसों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शिक्षकों का पूरा ब्योरा और तमाम दूसरे नियमों को लागू करने को लेकर योगी सरकार ने फैसला लिया था।