VIDEO: उन्नाव मामले पर योगी की पुलिस से सवाल करने वाली मुस्लि’म छात्रा पर ख़तरा, पिता ने कहा- उन्हें अपनी बेटी की…

लखनऊः उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में उन्नाव मामले को लेकर योगी की पुलिस से सवाल करना बाराबंकी की रहने वाली 11वीं की छात्रा को महंगा पड़ गया है। छात्रा के परिजन डरे हुए हैं और छात्रा की सुरक्षा को लेकर उसे स्कूल भेजना बंद कर दिया है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक छात्रा के परिजनों का कहना है कि वे सोमवार को स्कूल की प्रिंसिपल से मिलेंगे और उसके बाद ही इस पर फैसला करेंगे कि छात्रा को दोबारा स्कूल कब भेजना है।

छात्रा के पिता के मुताबिक उन्होंने कहा की मेरी बेटी अभी छोटी और उसको दुनिया की बातो की इतनी जानकारी नहीं है। उसने जो कुछ भी न्यूज पेपर में पढ़ा और टीवी पर देखा वही सब कह दिया। उसने अच्छा बोला और स्कूल के बच्चों ने उसका उत्साह बढ़ाया। आपको बता दें कि दो दिन पहले बाराबांकी के आनंद भवन स्कूल की 11वीं की छात्रा मुनिबा किदवई ने उन्नाव दु’ष्क’र्म को लेकर।

Image Source: Google

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से ऐसे सवाल पूछे थे कि पुलिस को चुप्पी साधनी पड़ गई थी। छात्रा के सवालों का वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो गया था। जिसे कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी शेयर किया था। छात्रा ने पुलिस से पूछा था अगर पीड़ित आम आदमी है तो हम प्रदर्शन कर सकते हैं।

लेकिन अगर वह नेता है और ताकतवर शख्स है तो उसका विरोध कैसे किया जा सकता है? हम यह जानते हैं कि अगर हम किसी हाई प्रोफाइल व्यक्ति के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे तो उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। वही छात्रा ने आगे कहा हमने देखा है कि उन्नाव में एक लड़की के साथ एक विधायक ने गलत काम किया और अब जब वह उसके खिलाफ लड़ाई लड़ रही है।

 

तो उसका एक्सीडेंट करा दिया गया। जिससे अब वह जिंदगी और मौ’त की जंग लड़ रही है। ऐसे में अगर हम विरोध जताते हैं तो इस बात की क्या गारंटी है कि हमें न्याय मिलेगा? क्या गारंटी है कि हम सुरक्षित रहेंगे? क्या गारंटी है कि हमारे साथ कुछ नहीं होगा?

साभार: thewirehindi